बदल जाओ वक़्त के साथ,  या वक़्त बदलना सीखो, मजबूरियों को मत कोसो, हर हाल में चलना सीखो…

gulzar shayari zindagi ka sach

जब भी यह दिल उदास होता है, जाने कौन आस पास होता है, कोई वादा नहीं किया लेकिन क्यूँ तेरा इंतज़ार रहता है..

सालों बाद मिले वो गले लगाकर रोने लगे, जाते वक्त जिसने कहा था तुम्हारे जैसे हज़ार मिलेंगे…

मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता, हूँ मगर रोज़ सुबह यह मुझसे पहले जाग जाती है..

Click  Here

तुझसे कोई शिकवा शिकायत नही है जिंदगी तूने जो भी दिया हैं वही बहुत है..

अच्छी बात है कि आप अहंकारी हैं क्योंकि इसके रहते आप कभी, स्वयं को गलत होते हुए  भी गलत नहीं समझेंगे…

Learn more

मेरे दिल में एक धड़कन तेरी है उस धड़कन की कसम तू ज़िन्दगी मेरी है मेरी तो हर सांस में एक सांस तेरी है जो कभी सांस रुक जाये तो मौत मेरी है..

ज़िन्दगी ये तेरी खरोंचे है मुझ पर,  या तू मुझे तराशने की कोशिश में है..

Learn more