पहला प्यार शायरी: pehla pyar pehli baar shayari

वजह पूछोगे तो सारी उम्र गुजर जाएगी, कहा ना अच्छे लगते हो तो बस लगते हो

अगर तेरा अंदाज़ मोहब्बत देख ले कोई रहा ना जाये उस से तेरी हसरत के बिगैर

उसकी याद हमें बेचैन बना जाती हैं, हर जगह हमें उसकी सूरत नज़र आती हैं, कैसा हाल किया हैं मेरा आपके प्यार ने, नींद भी आती हैं तो आँखे बुरा मान जाती हैं.

छू गया जब कभी ख्याल तेरा, दिल मेरा देर तक धड़कता रहा, कल तेरा ज़िक्र छिड़ गया घर में, और घर देर तक महकता रहा..

आप हस्ते हो तो खुशी हमे होती हे, आपकी नाराज़गी से आँखे मेरी रोती हे, आपकी दूरी से बेचैन हम होते हे, महसुस जब करोगे पता चलेगा मोहब्बत ऐसी होती हे

कितना प्यारा चेहरा है तेरा है कितनी प्यारी मुस्कान तेरी देखते ही होश उड़ जाये इश्क़ के दीवाने मर जाये मुस्कान में तेरी.

है हक़ीक़त कि हमें आपके सिवा, कुछ भी नज़र नहीं आता, यह भी हकीकत है आपके सिवा, किसी और को देखने की चाहत ही नहीं

हालत जो भी हो। हर हाल में एक दुसरे को, समझ पाना ही सच्ची मोहब्बत है.

हर कदम हर पल हम आपके साथ है, भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं, जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों, लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं.

प्यार एक ऐसा खूबसूरत रिश्ता है को दो अनजान लोगो को भी एक दूसरे के लिए खास बना देती हैं