dard ko ubharne wali shayari, teri judai mein sanam, judai shayari in hindi

Share This

Dard ko ubharne wali Shayari. Teri judai mein Sanam. judai Shayari in Hindi.

हेल्लो दोस्तों आपका स्वागत है dard ko ubharne wali shayari, teri judai mein sanam, judai shayari in hindi. मेरे blog पर में आपकी दोस्त रिचा शर्मा जहा प्यार बेसुमार होता वहा तकरार भी बेसुमार होती है मिल कर भी कभी जुदा हो जाते है. सहते हे कभी सहा भी नहीं जाता हे. क्या इस दर्द को ही प्यार कहते हे. दोस्तों आज की शायरी का भी यही इन्दाज़ हे judai shayari क्या मिलने के बाद जुदाई है या मिलने से पहले ही जुदाई हे. ऐसे ही कुछ नये नये अंदाज़ के साथ आपको इस blog पर शायरी मिलती रहती है.

अगर आपको यह शायरी पसंद आती है. तो अपने दोस्तों के साथ share किया करो whatsapp या facebook and other social साईट पर हर बार नया नया topic पर shayari लेकर आती हूँ. दोस्तों आप मेरे youtube channel को भी subscribe कर देना क्यों की उसपर भी में नई नई शायरी face to face लेकर आती हूँ.

dard ko ubharne wali shayari,

Aapki Yaad Dil Ko Bekrar Karti He,

Nazar Talaash Aapko Baar-Baar Karti He,

Gila Nhi Jo Hum He Door Aapse,

Hamaari To Judaai Bhi Aapse Pyar Karti He.

आपकी याद दिल को बेकरार करती हें

नज़र तलाश आपको बार-बार करती हें

गिला नहीं जो हम हें दूर आपसे!

हमारी तो जुदाई भी आपसे प्यार करती हें…!!

*******

dard e judai shayari in hindi,

हमें मालूम हें 2 दिल जुदाई सह नहीं सकते

मगर रस्मे-वफ़ा यह हें

कि ये भी कह नहीं सकते जरा कुछ

देर तुम उन साहिलों कि चीख

सुन भर लो जो लहरों में तो डूबे हें

मगर संग बह नहीं सकते…!!

Hame Malum He Do Dil Judaai Sah Nhi Sakte

Mgr Rasme-Wafa Yah He Ki Yah Bhi Kah Nhi Sakte

Jara Kuch Der Tum Un Saahilo Ki Chikh

Sun Bhar Lo Jo Lahro Mai Dube He

Mgr Sang Bah Nhi Sakte….!!

********

judai shayari in hindi for girlfriend,

जिन्दगी आप के बिन ऊलझन सी लगती हें

1 पल की जुदाई मुद्दत सी लगती हें

पहले तो ऐहसास था पर अब यकीन हें

हर लम्हा आपकी जरूरत सी लगती हें…!!

Jindagi  aap ke bin uljhan si lagti he,

Ek pal ki judaai muddat si lagti he,

Pehle to aihsaas tha par ab yakin he,

Har lamha aapki zarurat si lagti he….!!

*********

judai ki shayari,

नये कपडे बदल कर जाऊँ कहाँ

ओर बाल बनाऊँ किस के लिये

वो शख्स तो शहर ही छोड़ गया

मैं बाहर जाऊँ किस के लियें

मुद्दत से कोई आया ना गया

सुनसान पड़ी हें घर की फ़ज़ा

इन खाली कमरों में नासिर

अब समां जलाऊँ किस के लियें…!!

*********

judai status in hindi,

Subah Juda He Raat Juda He,

Apni To Har Baat Juda He,

Tumse Bichar Kar Aisa Laga

Jaise Dua Mai Haath Juda He

Sab To Aate Rahte He,

Tum Aao To Baat Juda He..!!

******

judai shayari in hindi,

ज़िन्दगी की आखिरी शाम लिखते हें

आप की याद में गुजरते पल तमाम लिखते हें

वो कलम भी दीवानी हो जाती हें

आप की जिस कलम से हम आपका नाम लिखते हें !!

Jindgi ki aakhri sham likhte he

Aap ki yaad mai guzrte pal tamam likhte he

Wo kalam bhi deewani ho jaati he

Aap ki jis kalam se aapka naam likhte he….!!

******

teri judai mein sanam,

“ग़म में हँसने वालों को कभी रुलाया नहीं जाता हें”

लहरों से पानी को हटाया नहीं जाता हें

होने वाले हो जाते हें, खुद ही दिल से जुदा मगर

किसी को जबर्दस्ती दिल में, बसाया नहीं जाता हें…!!

*****

dard ko ubharne wali shayari,

आपकी आहट दिल को बेकरार करती हें

नज़र तलाश आपको बार-बार करती हें

गिला नहीं जो हम हें इतने दूर आपसे

हमारी तो जुदाई भी तुमसे प्यार करती हें….!!

*******

लबो पर मुस्कान लिये तेरे गम को छिपाते हें

भीड़ में भी अब हम तन्हा सा रह जाते हें

पर कहे भी तो क्या तुझसे हमें पता हें

तू भी गम में जी रहा हें जबसे….!!

Labo Par Muskan Liyen Tere Gam Ko Chhipate He

Bheed Mai Bhi Ab Hum Tanha Sa Rah Jaate He

Par Kahe Bhi To Kya Tujhse Hame Pta He

Too Bhi Gam Mai Jee Raha He Jabse….!!

*******

tum mere baad mohabbat ko taras jaoge,

आओ किसी रोज मुझे टूट के बिखर ता देखो,,

मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतर ता देखो,,

किस किस अदा से तुझे मागा हें खुदा से,,

आओ कभी मुझे सजदो में सिसक ता देखो…!!

Aao kisi roz mujhe toot ke bikharte dekho

meri rangon mai zahar judaai ka utarta dekho

kis-kis andaz se tujhe maanga he khuda se

aao kabhi mujhe sazado me siskaata dekho….!!

*******

dard ko ubharne wali shayari, teri judai mein sanam, judai shayari in hindi

judai shayari urdu,

क्यू तुझ को देखना चाहती हें मेरी आँखें

क्यू खामोशियाँ करती बस हें तेरी बातें

क्यों इतना चाहने लगा हूँ तुझको मैं

की तारे गिनते हुए कटती हें

मेरी रातें  तुम ही कुछ बता दे

क्या मैं करूँ इनका  हर पल जो

मुझे तड़पाती हें तेरी यादें…!!

******

pyar ka dard shayari,

In Duriyon Ko Judaai Mat Kahna

In Khamoshiyon Ko Ruswaai Mat Kahna

Har Mod Par Yaad Karenge Aapko

jindgi Ne Saath Na Diya To Bewafa Mat Kahna….!!

इन दूरियों को जुदाई मत कहना!

इन खामोशियों को रुसवाई मत कहना!!

हर मोड़ पर याद करेंगे आपको ज़िन्दगी में!

साथ नहीं दिया तो बेवफाई मत कहना….!!

*******

dard ko ubharne wali shayari,

ना जाने किस शख्स का इंतज़ार हमें आज भी हें

सुकून तो बहुत हें पर दिल बे-करार आज भी हें

तुमने हमें नफरतों के सिवा कुछ नहीं दिया पर

हमें तुम्हारी नफरतों से प्यार आज भी हें….!!

Na Jaane Kis Shakhs Ka Intezar Hame Aaj Bhi He

Sukoon To Bahut He Par Dil Be-Karar Aaj Bhi He

Tumne Hame Nafarto Ke Siva Kuch Nhi Dia Par

Hame Tumhari Nafarto Se Pyar Aaj Bhi He….!!

*******

Shayari dard ko ubharne wali,

Or Koi Gam Nhi Ek Teri Judaai Ke Siva

Mere Hise Main Kya Aaya Tanhaai Ke Siva

Yoon To Milan Ki Raate Mili Be-sumaar

Pyar Mai Sab Kuch Mila Shehnaai Ke Siva….!!

ओर कोई गम नही इक तेरी जुदाई के सिवा

मेरे हिसे मैं क्या आया तन्हाई के सिवा

यूं तो मिलन की रातें मिली बे-सुमार

प्यार मैं सब कुछ मिला शेहनाई के सिवा…!!

*******

दर्द को उभारने वाली शायरी,

हर इक बात पे वक़्त का तकाज़ा हुआ

हर इक याद पर दिल का दर्द ताज़ा हुआ

सुनते थे ग़ज़लों में जुदाई की बातें

खुद पर बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ….!!

*******

शायरी दर्द को उभारने वाली,

यह कैसी जुदाई हें जिसने मुझे इक शायर बना दिया

यह कैसा गम हें जिसने हमें बे-बस बना दिया!!

सोचा नहीं था जुदा हो जाओगे हमसे!

हम करते भी क्या जब तुमने ही हमें गैर बना दिया….!!

********

Judai shayari dard ko ubhar de,

काश यह जालिम जुदाई न होती!

ऐ खुदा तूने यह चीज़ बनाई न होती!!

न हम उनसे मिलते न प्यार होता!

अपनी ज़िन्दगी फिर पराई न होती….!!

Kash Yah Zaalim Judaai Na Hoti

Aiye Khuda Tu Ne Yah Chiz Banaai Na Hoti

Na Hum Unse Milte Na Pyar Hota

Apni Zindagee Fir Paraai Na Hoti….!!

*******

Sanam tum to bada dard de gaye,

हमें तो तेरी जुदाई मार गई!

मै तो इश्क की जीती बाज़ी हार गई!!

इतना भी क्या रूठना अपने यार से!

मनाने की तुम्हे कोशिशे बेकार गई….!!

******

Teri judai mein sanam dard ubharne laga,

जो मेरा था वो मेरा हो न पाया!

आँख में आंसू भरे हुए थे पर म रो न पाया!!

एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि!

हम मिलेंगे ख़्वाबों में पर मेरी!!

बद-किस्मती, तो देखिये उस रात तो मैं!

ख़ुशी के मारे सो भी न पाया….!!

******

Mohabbat me mili teri judai shayari,

मोहब्बत कि हर गली गुमनाम क्यूँ हें ,

जुदाई ओर मौत इश्क का अंजाम क्यूँ हें,

लोग देते हें नाम इसे पाकीजगी का,

तो यह मोहब्बत इतनी बद-नाम क्यूँ हें…

Mohabat Ki Har Gali Gumnaam Kyon He

Judaai Aur Maut Ishq Ka Anzam Kyon He

Log Dete He Naam Ise Paakizgi Ka

To Yah Mohabbat Itni Bad-naam Kyon He….!!

******

Judai teri ab mujhe dard dene lagi,

Agr Mujhse Mohabbat Nhi To Rote Q Ho

Tanhai Mai Mere-Bare Main Sochte Q Ho

Agr Manzil Judaai He To Jaane Do Mujhe

Lout Ke Kab Aaoge Puchte Q Ho….!!

अगर मुझसे मोहब्बत नहीं तो रोते क्यू हो!

तन्हाई में मेरे बारे में सोचते क्यू हो!!

अगर मंज़िल जुदाई हें तो जाने 2 मुझे!

लौट के कब आओगे पूछते क्यू हो….!!

*******

Dil mein dard ubharne laga,

Hamne Pyar Nhi Ishq Nhi Ibadat Ki He

Rasmo Se Riwazo Se Bagawat Ki He

Manga Tha Hum Ne Jisse Apni Duao Mai

Ussi Ne Mujhse Juda Hone Ki Chahat Ki He….!!

हमने प्यार नहीं इश्क नहीं इबादत की हें!

रस्मों से रिवाजों से बगावत की हें!!

माँगा था हमने जिसे अपनी दुआओं में!

उसी ने मुझसे जुदा होने की चाहत की हें….!!

*******

Har sham dard teri judai ka ubharne laga,

Wafa Ki Zanzeer Se Dar Lagta He

Kuchh Apni Taqadeer Se Dar Lagta He,

Jo Mujhe Tujhse Juda Karti He

Hath Ki Uss Lakeer Se Dar Lagta He…!!

वफ़ा की ज़ंज़ीर से डर लगता हें!

कुछ अपनी तक़दीर से डर लगता हें!!

जो मुझे तुझसे जुदा करती हें!

हाथ की उस लकीर से डर लगता हें….!!

*********


Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *