tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari | shayari jo dil ko chu jaye

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari. shayari jo dil ko chu jaye. gulzar shayari. दिल को धड़काने वाली शायरी. गुलज़ार शायरी इन हिंदी २ लाइन्स. बेस्ट ऑफ़ गुलज़ार. दर्द भरी शायरी जो दिल को छू जाए. दिल को छू जाने वाली शायरी हिंदी में. दिल टूट जाने वाली शायरी. 2 लाइन दिल को छू जाने वाली शायरी. दिल को छू जाने वाली शायरी हिंदी में. shayari jo dil ko chu jaye. दिल को चुभ जाने वाली शायरी. Shayari aisi ki dil ko chu jaayegi. गुलजार हिंदी कविता.

 

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari,

 

परखना मत  परखने में कोई अपना नहीं रहता,

किसी भी आईने में देर तक चेहरा नहीं रहता

Parkhna mat parkhne mein koi apna nahi rahta,

Kisi bhi aaine mein der tak chehra nahi rahta

 

बड़े लोगों से मिलने में हमेशा फ़ासला रखना,

जहां दरिया समन्दर में मिले  दरिया नहीं रहता

Bade logo se milne mein hamesha fasla rakhna,

Janha dariya samndar me mile daria nahi rahta

 

हजारों शेर मेरे सो गए कागज की कब्रों में,

अजब मां हूं कोई बच्चा मेरा ज़िन्दा नहीं रहता

Hazaro sher mere so gaye kagaz ki kabro mein,

Ajab maa hoon koi bachcha mera zinda nahi rahta

 

तेरा शहर तो बिल्कुल नए अन्दाज वाला है,

हमारे शहर में भी अब कोई हमसा नहीं रहता

Tera shahar to bilkul naye andaz wala hai,

Hamare shahar mein bhi ab koi hamsa nahi rahta

 

मोहब्बत एक खुशबू है  हमेशा साथ रहती है,

कोई इन्सान तन्हाई में भी कभी तन्हा नहीं रहता

Mohabbat ek khushbu hai hamesha saath rahti hai,

Koi insaan tanhaai me bhi tanha nahi rahta

 

कोई बादल हरे मौसम का फ़िर ऐलान करता है,

ख़िज़ा के बाग में जब एक भी पत्ता नहीं रहता

Koi baadal hare mausam ka fir eilaan karta hai,

Fiza ke bag mein jab ek bhi patta nahi rahta…!!

 

************

 

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari

 

टूट जाएँ न भर्म होंठ हिलाऊँ कैसे,

हाल जैसा भी है लोगों को बताऊँ कैसे

Toot jaye nab harm hoth hilaau kaise,

Haal jaisa bhi hai logo ko bataau kaise..

 

खुश्क आँखों से भी अश्कों की महक आती है,

मैं तेरे ग़म को ज़माने से छुपाऊँ कैसे

Khushk aankho se bhi ashko ki mahak aati hai,

Main tere gum ko zamane se chhupaau kaise

 

तू ही बता मेरी यादों को भुलाने वाले,

मैं तेरी याद को इस दिल से भुलाऊँ कैसे

Too hi bata meri yaado ko bhulane wale,

Main teri yaad ko is dil se bhulaau kaise

 

फूल होता तो तेरे दर पर सजा रहता,

ज़ख़्म लेकर तेरी दहलीज़ पर आऊं कैसे

Phool hota to tere dar par saza rahta,

Zakhm lekar teri dahliz par aau kaise

 

तू रुलाता है तो रुला मुझे जी भर कर,

तेरी आँखें तो मेरी हैं  मैं इन को रुलाऊँ कैसे

Too rulata hai to rula mujhe jee bhar kar,

Teri aankhe to meri hai mein in ko rulaau kaise…!!

 

********

दिल को चुभ जाने वाली शायरी,

 

कोई जाता है यहाँ से न कोई आता है,

यह दीया अपने ही अँधेरे में घुट जाता है

Koi jata hai yaha se na koi aata hai,

Yeh diya apne hi andhere mein ghut jata hai

 

सब समझते हैं वही रात की किस्मत होगा,

जो सितारा बुलंदी पर नजर आता है

Sab samjhte hai wahi raat ki kismet hoga,

Jo sitaara bulandi par nazar aata hai

 

 

मै इसी खोज में बढ़ता ही चला जाता हूँ,

किसका आँचल है जो पर्बत पर लहराता है

Mein isi khoz mein badhta hi chala jata hoon,

Kiska aanchal hai jo parbat par lahrata hai

 

 

मेरी आँखों में एक बादल का टुकड़ा शायद,

कोई मौसम हो सरे शाम बरस जाता है

Meri aankho mein ek baadal ka tukada shaayad,

Koi mausam ho sare shaam baras jata hai

 

दे तसल्ली कोई तो आँख छलक उठती है,

कोई समझाए तो दिल ओर भी भर आता है

De taslli koi to aakh chalk uthati hai,

Koi samjhaye to dil or bhi bhar aata hai..!!

 

***********

dard bhari ghazal shayari,

 

दुनिया के दियें ज़ख्मों के  निशान अभी बाकी हैं,

हम जी रहे हैं इस लिए कि अरमान अभी बाकी हैं

Duniya ke diye zakhmo ke nishan abhi baki h,

Hum jee rahe hai is liye ki armaan abhi baki h

 

देख कर हमें बदल देते हैं लोग अपना रास्ता अब,

शायद आते हैं वो यह देखने कि  प्राण अभी बाकी हैं

Dekh kar hame badal dete hai log apna raasta ab,

Shayad aate hai wo yeh dekhne ki pran abhi baki h

 

छोड़ देते यह शहर यह गलियां सदा के लिए हम तो,

पर क्या करें कुछ लोगों के  अहसान अभी बाकी हैं

Chhud dete yeh shahar yeh galiyan sada ke liye hum to,

Par kya Karen kuch logo ke ahsaan abhi baki hai

शायद  लुट तो चुके हैं हम इस दुनिया के बाजार में,

पर घर में मेरी यादों के कुछ  सामान अभी बाकी हैं

Shayad loot to chuke hai hum is dunia ke bazaar mein,

Par ghar mein meri yaado ke kuch saaman abhi baaki h..!!

 

*********

Share This
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *