Home gulzar shayari

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari, गुलजार साहब की शायरी कड़वा सच

43
0
Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari, गुलजार साहब की शायरी कड़वा सच. गुलजार शायरी जिंदगी. Gulzar Shayari in Hindi 2 Lines, गुलज़ार शायरी इन हिंदी लिरिक्स. गुलजार शायरी Love. गुलज़ार शायरी best hindi shayari blog freshsmsmaza gulzar shayari zindagi ka kadwa sach pasand aaye to like aur share jarur karna.

 

Zindagi Ka Kadwa Sach

 

धीरे-धीरे उम्र कट जाती है, 

जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है,

कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है, 

और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है…

 

Dhire-dhire umar kat jaati hai,

Jeevan yaadon ki pustak ban jaati hai,

Kabhi kisi ki yaad bahut tadpati hai,

Aur kabhi yaadon ke sahare zindagi kat jaati hai..

****

पहेली तू जिंदगी की कब नादान समझेगा,

बहुत दुश्वरिया होगी अगर आसान समझेगा..

 

Pehli too zindagi ki Kab nadaan samjhega,

Bahut dushvariya hogi Agar aasan samjhega..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

थोड़ी देर खामोश बैठे

तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं,

अगर जरा सा मुस्कुरा ले तो,

हसने की वजह पूछ लेते हैं..

 

Thodi der khamosh baithe,

To log kahte hai udasi achchi nahi,

Agar zara sa muskura le to,

Hasne ki wajah puch lete hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari
  • Save

माना कि मुझ पर तेरे अहसान बहुत हैं,

मगर ए जिन्दगी तुझसे हम परेशान बहुत हैं,

कोई नहीं मिलता है जो बाँट ले दर्द मेरा

मतलब से मिलने वाले इन्सान बहुत हैं..

 

Mana ki mujh par tere ahsaan bahut hai,

Magar a zindagi tujhse hum pareshan bahut hai,

Koi nahi milta hai jo baant le dard mera,

Matlab se milne wale insaan bahut hai..

****

shayari zindgi ka sach

ग़मों से भरा है जिन्दगी का सफ़र,

हर शख्स आगे बढ़ रहा है,

मौत ही है इसकी आखिरी मंजिल,

सबका तजुर्बा यही कह रहा है..

 

Gamo se bhara hai zindagi ka safar,

Har shakhs aage badh raha hai,

Maut hi hai iski aakhiri manzil,

Sabka tazurba yahi kah raha hai..

****

इंसान हँसता तो सबके सामने है,

लेकिन रोता सिर्फ उसी के सामने है जिससे वो,

खुद से ज्यादा भरोशा और प्यार करता है..

 

Insaan hansta to sabke samne hai,

Lekin rota sirf usi ke samne hai jis se wo,

Khud se zyada bharosa aur pyar karta hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari
  • Save

ज़िंदगी के सही और गलत के बीच में क्या है,

और जो सही है वो सही क्यों नहीं लगता,

और जो गलत है वो सही क्यों लगता,

सही और गलत का फैसला आखिर कौन करता है..

 

Zindagi ke sahi aur galt ke bich main kya hai,

Aur jo sahi hai wo sahi kyon nahi lagta,

Aur jo galt hai wo sahi kyon lagta,

Sahi aur galt ka fesala aakhir kaun karta hai..

****

गुलजार शायरी जिंदगी

हक़ीक़त तो ये है की दुनिया में अकेले आए थे,

अकेले ही रहना पड़ता है और अकेले ही जाना पड़ता है,

क्यूंकि कोई साथ तो रह लेता है मगर कोई साथ नहीं देता..

 

Haqeeqt to ye hai ki duniya main akele aaye the,

Akele hi rahna padta hai aur akele hi jaana padta hai,

Kyonki koi sath to rah leta hai magar koi sath nahi deta..

****

ज़िन्दगी के रथ में लगाम बहुत है,

अपनो के अपनो पर  इल्जाम  बहुत है,

ये शिकायतों का दौर देखता हूँ तो थम सा जाता हूँ,

लगता है उम्र कम है और इम्तिहान  बहोत है..

 

Zindagi ke rath main lagam bahut hai,

Apno ke apno par ilzaam bahut hai,

Ye shikayaton ka daur dekhta hoon to tham sa jaata hoon,

Lagta hai umar kam hai aur imtihaan bahut hai.. 

****

गुलजार साहब की शायरी

जिंदगी में मेहनत करने,

वाले लोग हमेशा जीतते हैं,

क्यूंकि मेहनत के आगे तो,

हार भी अपना रास्ता बदल लेती है..

 

Zindagi main mehnat karne,

Waale log hamesha jeet te hai,

Kyonki mehnat ke aage to,

Haar bhi apna raasta badal leti hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari
  • Save

सच्चे किस्से शराबखाने में सुने,

वो भी हाथ मे जाम लेकर,

झूठे किस्से अदालत में सुने,

वो भी हाथ मे गीता कुरान लेकर..

 

Sachche kisse sharabkhane mein sune,

Wo bhi hath main zaam lekar,

Jhuthe kisse adalat main sune,

Wo bhi hath main geeta kuraan lekar..

 

*****

Zindagi Ka Kadwa Sach shayari gulzar

जो लोग ज़िंदगी में,

नरक यातनाओ का सामना करते है,

इसी ज़िंदगी में स्वर्ग भी,

कही न कही  उन्हें हे नसीब होता है…

 

Jo log zindagi main,

Narak yatnao ka samana karte hai,

Isi zindagi main swarg bhi,

Kahi na kahi unhe he naseeb hota hai..

****

छोटी सी जिंदगी है अरमान बहुत है,

हमदर्द नहीं कोई इंसान बहुत है,

दिल का दर्द सुनाए तो किसको,

जो दिल के करीब है वो अनजान बहुत है..

 

Chhoti si zindagi hai armaan bahut hai,

Hamdard nahi koi insaan bahut hai,

Dil ka dard sunaye to kisko,

Jo dil ke kareeb hai wo anjaan bahut hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari
  • Save

gulzar shayari zindagi ki sachayi

 

किसी के प्रति मन में क्रोध लिये रहने की,

अपेक्षा उसे तुरंत प्रकट कर देना अधिक अच्छा है,

जैसे क्षण भर में जल जाना देर,

तक सुलगने से अधिक अच्छा है..

 

Kisi ke prati man mein kradh liye rahne ki,

Apesha use turant prakat kar dena adhik achcha hai,

Jaise aksan bhar jal jaana der,

Tak tulgane se adhik achcha hai..

****

परिंदे रुक मत तुझमे जान बाकी है,

मंजिल दूर है अभी बहुत उड़ान बाकी है,

यूं ही नहीं मिलती रब की मेहरबानी,

एक से बढ़कर एक इंतिहान अभी बाकी है..

 

Parinde rook mat tujhme jaan baaki hai,

Manzil door hai abhi bahut udaan baaki hai,

Yoon hi nahi milti rab ki meharbaani,

Ek se badhakar ek itihaan abhi baaki hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach 2022

जाना कहा था और कहां आ गए,

दुनिया में बन कर मेहमान आ गए,

अभी तो प्यार की किताब खोली थी,

और न जाने कितने इम्तिहान आ गए..

 

Jaana kaha tha aur kanha aa gaye,

Duniya main ban kar mehmaan aa gaye,

Abhi to pyar ki kitaab kholi thi,

Aur na jaane kitne imtihaan aa gaye..

****

दुख इतना कठिन होता है,

जब जीवन के कुछ पल यादें बन जाते हैं,

कि हमें उनकी कीमत तभी

पहचाननी चाहिए जब वो हमारे साथ हों..

 

Dukh itna kathin hota hai,

Jab jeevan ke kuch pal yaadein ban jaate hai,

Ki hame unki kimat tabhi,

Pahchanani chahiye jab wo hamare saath ho..

****

gulzar ki shayari hindi

बाज़ार जा के ख़ुद का कभी दाम पूछना

तुम जैसे हर दुकान में सामान हैं बहुत,

आवाज़ बर्तनों की घर में दबी रहे,

बाहर जो सुनने वाले हैं शैतान हैं बहुत..

 

Baazar ja ke khud ka kabhi daam poochna,

Tum jaise har dukan mein saaman hai bahut,

Aawaz bartano ki ghar main dabi rahe,

Bahar jo sunne wale hai shetaan hai bahut..

****

आसुओ को पलकों में लाया न कीजिये,

दिल की बात हर किसी को बताया न कीजिये,

मुट्ठी में नमक लेकर फिरते है लोग,

अपने ज़ख़्म हर किसी को दिखाया न कीजिये..

 

Aasuo ko palko mein laya na kijiye,

Dil ki baat har kisi ko bataya na kijiye,

Mutthi main namak lekar firte hai log,

Apne zakhm har kisi ko dikhaya na kijiye..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach ka samna

 

हमे जीवन में कभी गुजरी,

बातो को नही सोचना चाहिए,

और न ही आने वाले कल के बारे में,

सोच कर परेशान होना चाहिए,

जो आज है बस उसी पल में खुश रहना चाहिए..

 

Hame jeevan main kabhi guzri,

Baato ko nahi nahi socha chahiye,

Aur na hi aane wale kal ke bare mein,

Soch kar pareshan hona chahiye,

Jo aaj hai bas usi pal main khush rahna chahiye..

****

जिंदगी के राज़ को राज़ रहने दो,

अगर है कोई ऐतराज़ तो रहने दो,

पर जब दिल करे हमें याद करने को,

तो उसे ये मत कहना के आज रहने दो..

 

Zindagi Ke Raaz Ko Raaz Rahne Do,

Agar Hai Koi Aiteraz To Rahne Do,

Par Jab Dil Kare Hume Yaad Karne Ko,

To Use Yah Mat Kahna Ke Aaj Rahne Do..

****

जो आपके पास है अगर आप उस से संतुष्ट रहोगे,

तो आपको जीवन में और मिलेगा,

यदि आप यही देखते रहोगे,

कि जीवन में आपके पास क्या नहीं है,

तो आप कभी संतुष्ट नहीं होंगे..

 

Jo aapke paas hai agar aap us se santusht rahoge,

To aapko jeevan mein aur milega,

Yadi aap yahi dekhte rahoge,

Ki jeevan mein aapke paas kya nahi hai,

To aap kabhi santusht nahi hoge..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach

तुझे अगर यकीन नही तो आजमा के देख ले,

एक बार तू ज़रा मुस्कुरा के देख ले,

वो मिलेगा तुझको जो तूने कभी सोचा ना था,

एक बार मेरी तरफ अपने कदम बढ़ा के देख ले..

 

Tumjhe agar yakin nahi to aazma ke dekh le,

Ek baar too zara muskura ke dekh le,

Wo milega tujhko jo tune kabhi socha na tha,

Ek baar meri taraf apne kadam badha ke dekh le..

****

Previous articleप्रेमिका के होठों पर शायरी, premika ke hoth par shayari in hindi
Next articleudas chehra zindagi ki shayari, उदास चेहरे जिंदगी पर शायरी – best 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here