gulzar shayari

Home gulzar shayari

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari, गुलजार साहब की शायरी कड़वा सच

2
Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari, गुलजार साहब की शायरी कड़वा सच. गुलजार शायरी जिंदगी. Gulzar Shayari in Hindi 2 Lines, गुलज़ार शायरी इन हिंदी लिरिक्स. गुलजार शायरी Love. गुलज़ार शायरी best hindi shayari blog freshsmsmaza gulzar shayari zindagi ka kadwa sach pasand aaye to like aur share jarur karna.

 

Zindagi Ka Kadwa Sach

 

धीरे-धीरे उम्र कट जाती है, 

जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है,

कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है, 

और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है…

 

Dhire-dhire umar kat jaati hai,

Jeevan yaadon ki pustak ban jaati hai,

Kabhi kisi ki yaad bahut tadpati hai,

Aur kabhi yaadon ke sahare zindagi kat jaati hai..

****

पहेली तू जिंदगी की कब नादान समझेगा,

बहुत दुश्वरिया होगी अगर आसान समझेगा..

 

Pehli too zindagi ki Kab nadaan samjhega,

Bahut dushvariya hogi Agar aasan samjhega..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

थोड़ी देर खामोश बैठे

तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं,

अगर जरा सा मुस्कुरा ले तो,

हसने की वजह पूछ लेते हैं..

 

Thodi der khamosh baithe,

To log kahte hai udasi achchi nahi,

Agar zara sa muskura le to,

Hasne ki wajah puch lete hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

माना कि मुझ पर तेरे अहसान बहुत हैं,

मगर ए जिन्दगी तुझसे हम परेशान बहुत हैं,

कोई नहीं मिलता है जो बाँट ले दर्द मेरा

मतलब से मिलने वाले इन्सान बहुत हैं..

 

Mana ki mujh par tere ahsaan bahut hai,

Magar a zindagi tujhse hum pareshan bahut hai,

Koi nahi milta hai jo baant le dard mera,

Matlab se milne wale insaan bahut hai..

****

shayari zindgi ka sach

ग़मों से भरा है जिन्दगी का सफ़र,

हर शख्स आगे बढ़ रहा है,

मौत ही है इसकी आखिरी मंजिल,

सबका तजुर्बा यही कह रहा है..

 

Gamo se bhara hai zindagi ka safar,

Har shakhs aage badh raha hai,

Maut hi hai iski aakhiri manzil,

Sabka tazurba yahi kah raha hai..

****

इंसान हँसता तो सबके सामने है,

लेकिन रोता सिर्फ उसी के सामने है जिससे वो,

खुद से ज्यादा भरोशा और प्यार करता है..

 

Insaan hansta to sabke samne hai,

Lekin rota sirf usi ke samne hai jis se wo,

Khud se zyada bharosa aur pyar karta hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

ज़िंदगी के सही और गलत के बीच में क्या है,

और जो सही है वो सही क्यों नहीं लगता,

और जो गलत है वो सही क्यों लगता,

सही और गलत का फैसला आखिर कौन करता है..

 

Zindagi ke sahi aur galt ke bich main kya hai,

Aur jo sahi hai wo sahi kyon nahi lagta,

Aur jo galt hai wo sahi kyon lagta,

Sahi aur galt ka fesala aakhir kaun karta hai..

****

गुलजार शायरी जिंदगी

हक़ीक़त तो ये है की दुनिया में अकेले आए थे,

अकेले ही रहना पड़ता है और अकेले ही जाना पड़ता है,

क्यूंकि कोई साथ तो रह लेता है मगर कोई साथ नहीं देता..

 

Haqeeqt to ye hai ki duniya main akele aaye the,

Akele hi rahna padta hai aur akele hi jaana padta hai,

Kyonki koi sath to rah leta hai magar koi sath nahi deta..

****

ज़िन्दगी के रथ में लगाम बहुत है,

अपनो के अपनो पर  इल्जाम  बहुत है,

ये शिकायतों का दौर देखता हूँ तो थम सा जाता हूँ,

लगता है उम्र कम है और इम्तिहान  बहोत है..

 

Zindagi ke rath main lagam bahut hai,

Apno ke apno par ilzaam bahut hai,

Ye shikayaton ka daur dekhta hoon to tham sa jaata hoon,

Lagta hai umar kam hai aur imtihaan bahut hai.. 

****

गुलजार साहब की शायरी

जिंदगी में मेहनत करने,

वाले लोग हमेशा जीतते हैं,

क्यूंकि मेहनत के आगे तो,

हार भी अपना रास्ता बदल लेती है..

 

Zindagi main mehnat karne,

Waale log hamesha jeet te hai,

Kyonki mehnat ke aage to,

Haar bhi apna raasta badal leti hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

सच्चे किस्से शराबखाने में सुने,

वो भी हाथ मे जाम लेकर,

झूठे किस्से अदालत में सुने,

वो भी हाथ मे गीता कुरान लेकर..

 

Sachche kisse sharabkhane mein sune,

Wo bhi hath main zaam lekar,

Jhuthe kisse adalat main sune,

Wo bhi hath main geeta kuraan lekar..

 

*****

Zindagi Ka Kadwa Sach shayari gulzar

जो लोग ज़िंदगी में,

नरक यातनाओ का सामना करते है,

इसी ज़िंदगी में स्वर्ग भी,

कही न कही  उन्हें हे नसीब होता है…

 

Jo log zindagi main,

Narak yatnao ka samana karte hai,

Isi zindagi main swarg bhi,

Kahi na kahi unhe he naseeb hota hai..

****

छोटी सी जिंदगी है अरमान बहुत है,

हमदर्द नहीं कोई इंसान बहुत है,

दिल का दर्द सुनाए तो किसको,

जो दिल के करीब है वो अनजान बहुत है..

 

Chhoti si zindagi hai armaan bahut hai,

Hamdard nahi koi insaan bahut hai,

Dil ka dard sunaye to kisko,

Jo dil ke kareeb hai wo anjaan bahut hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach Gulzar Shayari

gulzar shayari zindagi ki sachayi

 

किसी के प्रति मन में क्रोध लिये रहने की,

अपेक्षा उसे तुरंत प्रकट कर देना अधिक अच्छा है,

जैसे क्षण भर में जल जाना देर,

तक सुलगने से अधिक अच्छा है..

 

Kisi ke prati man mein kradh liye rahne ki,

Apesha use turant prakat kar dena adhik achcha hai,

Jaise aksan bhar jal jaana der,

Tak tulgane se adhik achcha hai..

****

परिंदे रुक मत तुझमे जान बाकी है,

मंजिल दूर है अभी बहुत उड़ान बाकी है,

यूं ही नहीं मिलती रब की मेहरबानी,

एक से बढ़कर एक इंतिहान अभी बाकी है..

 

Parinde rook mat tujhme jaan baaki hai,

Manzil door hai abhi bahut udaan baaki hai,

Yoon hi nahi milti rab ki meharbaani,

Ek se badhakar ek itihaan abhi baaki hai..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach 2022

जाना कहा था और कहां आ गए,

दुनिया में बन कर मेहमान आ गए,

अभी तो प्यार की किताब खोली थी,

और न जाने कितने इम्तिहान आ गए..

 

Jaana kaha tha aur kanha aa gaye,

Duniya main ban kar mehmaan aa gaye,

Abhi to pyar ki kitaab kholi thi,

Aur na jaane kitne imtihaan aa gaye..

****

दुख इतना कठिन होता है,

जब जीवन के कुछ पल यादें बन जाते हैं,

कि हमें उनकी कीमत तभी

पहचाननी चाहिए जब वो हमारे साथ हों..

 

Dukh itna kathin hota hai,

Jab jeevan ke kuch pal yaadein ban jaate hai,

Ki hame unki kimat tabhi,

Pahchanani chahiye jab wo hamare saath ho..

****

gulzar ki shayari hindi

बाज़ार जा के ख़ुद का कभी दाम पूछना

तुम जैसे हर दुकान में सामान हैं बहुत,

आवाज़ बर्तनों की घर में दबी रहे,

बाहर जो सुनने वाले हैं शैतान हैं बहुत..

 

Baazar ja ke khud ka kabhi daam poochna,

Tum jaise har dukan mein saaman hai bahut,

Aawaz bartano ki ghar main dabi rahe,

Bahar jo sunne wale hai shetaan hai bahut..

****

आसुओ को पलकों में लाया न कीजिये,

दिल की बात हर किसी को बताया न कीजिये,

मुट्ठी में नमक लेकर फिरते है लोग,

अपने ज़ख़्म हर किसी को दिखाया न कीजिये..

 

Aasuo ko palko mein laya na kijiye,

Dil ki baat har kisi ko bataya na kijiye,

Mutthi main namak lekar firte hai log,

Apne zakhm har kisi ko dikhaya na kijiye..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach ka samna

 

हमे जीवन में कभी गुजरी,

बातो को नही सोचना चाहिए,

और न ही आने वाले कल के बारे में,

सोच कर परेशान होना चाहिए,

जो आज है बस उसी पल में खुश रहना चाहिए..

 

Hame jeevan main kabhi guzri,

Baato ko nahi nahi socha chahiye,

Aur na hi aane wale kal ke bare mein,

Soch kar pareshan hona chahiye,

Jo aaj hai bas usi pal main khush rahna chahiye..

****

जिंदगी के राज़ को राज़ रहने दो,

अगर है कोई ऐतराज़ तो रहने दो,

पर जब दिल करे हमें याद करने को,

तो उसे ये मत कहना के आज रहने दो..

 

Zindagi Ke Raaz Ko Raaz Rahne Do,

Agar Hai Koi Aiteraz To Rahne Do,

Par Jab Dil Kare Hume Yaad Karne Ko,

To Use Yah Mat Kahna Ke Aaj Rahne Do..

****

जो आपके पास है अगर आप उस से संतुष्ट रहोगे,

तो आपको जीवन में और मिलेगा,

यदि आप यही देखते रहोगे,

कि जीवन में आपके पास क्या नहीं है,

तो आप कभी संतुष्ट नहीं होंगे..

 

Jo aapke paas hai agar aap us se santusht rahoge,

To aapko jeevan mein aur milega,

Yadi aap yahi dekhte rahoge,

Ki jeevan mein aapke paas kya nahi hai,

To aap kabhi santusht nahi hoge..

****

Zindagi Ka Kadwa Sach

तुझे अगर यकीन नही तो आजमा के देख ले,

एक बार तू ज़रा मुस्कुरा के देख ले,

वो मिलेगा तुझको जो तूने कभी सोचा ना था,

एक बार मेरी तरफ अपने कदम बढ़ा के देख ले..

 

Tumjhe agar yakin nahi to aazma ke dekh le,

Ek baar too zara muskura ke dekh le,

Wo milega tujhko jo tune kabhi socha na tha,

Ek baar meri taraf apne kadam badha ke dekh le..

****

gulzar quotes on relationship, gulzar shayari in hindi, गुलजार साहब शायरी

0
gulzar quotes on relationship, gulzar shayari in hindi

gulzar quotes on relationship, gulzar shayari in hindi, गुलजार साहब शायरी. गुलज़ार साहब की बहुत ही खूबसुरत शायरी ग़ज़ल gulzar quotes on relationship. आप लोगो का स्वागत है मेरे blog पर गुलज़ार साहब ने नज़्में और ग़ज़लें भी लिखी हैं. आपके लिए बेहतरीन gulzar sahab shayari. gulzar motivational shayari in hindi.

 

gulzar quotes on relationship, gulzar shayari in hindi, गुलजार साहब शायरी

 

related search:-

गुलजार शायरी जिंदगी, गुलजार शायरी स्टेटस, गुलज़ार शायरी इन हिंदी Sad, गुलज़ार एक अहसास, जिंदगी गुलजार है शायरी, गुलज़ार दर्द शायरी, गुलज़ार की दर्द भरी शायरी, गुलजार की दो लाइन शायरी, Gulzar Shayari in Hindi 2 Lines, Gulzar Quotes On zindagi, Gulzar Quotes On smile, Gulzar emotional Quotes, Gulzar Quotes On Love, Gulzar Quotes On Zindagi In Hindi, Gulzar Poetry On Life In Hindi,

 

 

 

 

मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता,

हूँ मगर रोज़ सुबह ये मुझसे पहले जाग जाती है।

*****

मोटिवेशनल शायरी गुलज़ार

मेरे दिल में एक धड़कन तेरी है

उस धड़कन की कसम तू ज़िन्दगी मेरी है

मेरी तो हर सांस में एक सांस तेरी है

जो कभी सांस रुक जाये तो मौत मेरी है

*******

देर से गूंजते हैं सन्नाटे,

जैसे हमको पुकारता है कोई.

कल का हर वाक़िया था  तुम्हारा,

आज की दास्ताँ है हमारी

*******

Gulzar Quotes in Hindi

कोई पुछ रहा हैं मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत,

मुझे याद आ रहा है तेरा हल्के से मुस्कुराना

*******

Also Read:-

gulzar quotes on relationship

तन्हाई की दीवारों पर

घुटन का पर्दा झूल रहा हैं,

बेबसी की छत के नीचे,

कोई किसी को भूल रहा हैं

******

जागना भी काबुल है तेरी यादों में रातभर,

तेरे अहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहाँ

******

Gulzar Shayari on zindagi

gulzar quotes on relationship, gulzar shayari in hindi

कैसे करें हम ख़ुद को

तेरे प्यार के काबिल,

जब हम बदलते हैं,

तो तुम शर्ते बदल देते हो

*****

कभी जिंदगी एक पल में गुजर जाती हैं,

और कभी जिंदगी का एक पल नहीं गुजरता

******

Gulzar Shayari in Hindi

रोई है किसी छत पर  अकेले ही में घुटकर,

उतरी जो लबों पर तो वो नमकीन थी बारिश

******

gulzar motivation shayari in hindi

आदतन तुमने कर दीए वादे,

आदतन हमने एतबार किया…

तेरी राहों में बारहाँ रुक कर,

हमने अपना ही इंतज़ार किया…

अब ना मांगेंगे ज़िन्दगी या रब,

यह गुनाह हमने जो एक बार किया…

********

कुछ बात बिगड़ती सी, कुछ बात सुलझती सी

कुछ अपनी सी, कुछ पराई सी

जिंदगी है जनाब,

ये हर रोज साज़ बदलती है।

****

गुलज़ार मोटिवेशन शायरी इन हिंदी

तजुर्बा बता रहा हूँ ऐ दोस्त दर्द,

गम  डर जो भी हो बस तेरे अन्दर है

खुद के बनाए पिंजरे से निकल कर

तो देख, तू भी एक सिकंदर है

******

खुली किताब के सफ़्हे उलटते रहते हैं

हवा चले न चले दिन पलटते रहते है

******

Also Read:-

चाँद शायरी गुलज़ार

दिल में कुछ जलता है शायद,

धुआँ धुआँ सा लगता है।

आँख में कुछ चुभता है शायद,

सपना सा कोई सुलगता है

****

बोली बता देती है इंसान कैसा है!

बहस बता देती है  ज्ञान कैसा है!

घमण्ड बता देता है  कितना पैसा है।

संस्कार बता देते है  परिवार कैसा है

*****

गुलज़ार बेस्ट लाइन्स

हवा गुज़र गयी पत्ते थे

कुछ हिले भी नहीं,

वो मेरे शहर में आये भी

और मिले भी नहीं

*****

गजब है इश्क़ – ऐ – दस्तूर

साथ थे तो एक लफ़्ज़

ना निकला लवों से मेरे

दूर क्या हुए कलम ने

कहर मचा रखा है..

*****

gulzar tanhaai shayari

तन्हाई की दीवारों पर

घुटन का पर्दा झूल रहा हैं,

बेबसी की छत के नीचे,

कोई किसी को भूल रहा हैं..

*****

भूलने की कोशिश करते हो

आख़िर इतना क्यों सहते हो

डूब रहे हो और बहते हो

दरिया किनारे क्यों रहते हो

******

also read:-

wo shahar tumhara gulzar shayari

वो मोहब्बत भी तुम्हारी थी

वो नफ़रत भी तुम्हारी थी

हम अपनी वफ़ा का इंसाफ किससे मांगते

वो शहर भी तुम्हारा था

वो अदालत भी तुम्हारी थी

******

शाम से आँख में नमी सी है,

आज फिर आप की कमी सी है.

दफ़्न कर दो हमें के साँस मिले,

नब्ज़ कुछ देर से थमी सी है

******

Gulzar Shayari on yaadein

वो मोहब्बत भी तुम्हारी थी नफरत भी तुम्हारी थी,

हम अपनी वफ़ा का इंसाफ किससे माँगते,

वो शहर भी तुम्हारा था वो अदालत भी तुम्हारी थी

*******

Gulzar Quotes On relationship

बस तुझसे जुड़ा हूं ए-जिंदगी,

इसलिए जिंदा हूं एकतरफा,

वरना इंसान ढूंढने की कोशिश,

बंद कर दी है मैंने

*******

बचपन में भरी दुपहरी में नाप आते थे पूरा मोहल्ला

जबसे डिग्रियां समझ में आईं पांव जलने लगे

*********

 

Nice Ghazal In Hindi, hindi shayari ghazal, हिंदी शायरी ग़ज़ल

0
Nice Ghazal In Hindi, hindi shayari ghazal, हिंदी शायरी ग़ज़ल

Nice Ghazal In Hindi, hindi shayari ghazal, हिंदी शायरी ग़ज़ल, दिल को छूने वाली हिंदी शायरी. बहुत दुख की बात ग़ज़ल कविता  दिल को छू ग़ज़ल गीत  दिल को छू उर्दू में ग़ज़लें | दर्द गजल शायरी. रोमांटिक ग़ज़ल शायरी इन हिंदी, हिंदी रोमांटिक गजल | हार्ट टचिंग ग़ज़ल इन हिंदी, रोमांटिक गजल शायरी. यह ghazal आपको पसंद आये तो अपने दोस्तों के साथ share भी कर देना.

 

 

Nice Ghazal In Hindi

 

अश्क आखो से टपकते क्यू है..

हम कई रोज से जागते क्यू है!

जो हकीकत में तब्दील न हो..

ख्वाब वो दिल में पनपते क्यू है!

चल के साबित कदम कुछ पल..

राह से अपनी भटकते क्यू है!

चन्द लम्हों की जिन्दगी के लिए..

आप फूलो को मसलते क्यू है!

है जिस तरफ बाढ़ का मन्जर..

यह अब्र वही पे बरसते क्यू है!

सब तो कहते है तासीर बहुत ठंडी है..

पाव फिर बर्फ पे जलते क्यू है!

उनकी रौशनी हवेली के लिए..

घर गरीबो ही के जलते क्यू है….!!

****

रोमांटिक गजल शायरी

 

ज़िन्दगी के इम्तिहान से बहुत डर गया हूं मैं!

सुकून जब भी चाहा अपने घर गया हूं मैं..

कहते हैं साथी मिल जाते हैं राह-ए-मंज़िल में अक्सर!

मुझे तो कोई ना मिला उस राह जिधर गया हूं मैं..

सुकून से हूं बहुत तेरे जाने के बाद भी!

तुम्हें क्या लगा था बिखर गया हूं मैं..

मेरी खूबियों पर चर्चा करते सुना है मैंने लोगों को!

कुछ किया है मैंने या फिर मर गया हूं मैं..

हंस पड़ता हूं सुनकर बातें अपने खिलाफ भी!

दरिया-ए-समझदारी में इस हद तक उतर गया हूं मैं..

जान ली अपनी अहमियत मैंने ज़िन्दगी में तेरी!

की तेरे लिए बीते वक़्त की तरह गुज़र गया हूं मैं..

चाहतें अपने परिवार की कुछ यूं पूरी की मैंने!

अपनी साऱी ख्वाहिशों का क़त्ल कर गया हूं मैं….!!

****

best ghazal lines in hindi

 

यह उम्र लम्हों में सिमट जाए  तो क़रार आएं,

बात बिगड़ी भी  सँवर जाए तो क़रार आएं,

रातें महकी हो  चाँदनी में यहाँ  बरसों तो क्या

कभी दिन में भी  सुरूर आएं  तो क़रार आएं,

दिल धड़कता है  तेरी याद में  हर लम्हा मेरा

उम्र भर यूँ ही  गुज़र जाए  तो क़रार आएं,

मय का मंज़र हो  ओर जाम हो  लबों पर मेरे

ओर जी पीने से  मुकर जाए  तो क़रार आएं,

आसमांन छू के  यहाँ बरसी  यह घटाएं अकसर

कभी आसमां भी  बरस जाए  तो क़रार आएं…!!

****

motivational ghazal in hindi

 

तमन्ना छोड़ देते हैं इरादा छोड़ देते हैं..

चलो एक दूसरे को फिर से आधा अधूरा छोड़ देते हैं!

उधर आँखों में मंज़र आज भी वैसे का वैसा है..

इधर हम भी निगाहों को तरसता छोड़ देते हैं!

हमीं ने अपनी आँखों से समन्दर तक निचोड़े हैं..

हमीं अब आजकल दरिया को प्यासा छोड़ देते हैं!

हमारा क़त्ल होता है  मोहब्बत की कहानी में..

या यूँ कह लो कि हम क़ातिल को ज़िंदा छोड़ देते हैं!

हमीं शायर हैं  हम ही तो ग़ज़ल के शाहजादे हैं..

तआरुफ़ इतना देकर बाक़ी मिसरा छोड़ देते हैं….!!

****

romantic ghazal in hindi

 

पहचान अगर बन न सकी तो फिर क्या ग़म..

कितने ही सितारों का कोई नाम नहीं है,

आकाश भी धरती की तरह घूम रहा है..

दुनिया में किसी चीज़ को आराम नहीं है!

मत सोच कि क्या तूने दिया तुझको मिला क्या..

शायर है जमा-ख़र्च तेरा काम नहीं है!

यह शुक्र मना इतना तो इंसाफ़ हुआ है..

तुझ पर ही तेरे क़त्ल का इलजाम नहीं है!

माना वो मेहरबान है सुनता है सभी की..

मत भूल कि उसका भी करम आम नहीं है….!!

****

Nice Ghazal In Hindi, hindi shayari ghazal, हिंदी शायरी ग़ज़ल

Ghazal for Love in Hindi

 

तू नहीं तो जिन्दगी में ओर क्या रह जायेगा..

दूर तक तनहईयों का सिलसिला रह जायेगा!

दर्द की सारी तहे ओर सारे गुजरे हादसे..

सब धुवां हो जायेंगे  इक वाकिया रह जायेगा!

यूँ भी होगा वो मुझे दिल से भूला देगा मगर..

यह भी होगा खुद उसी में इक खला रह जायेगा!

दायरे इंकार के इकरार की सरगोशियाँ..

यह अगर टूटे कभी तो फासला रह जायेगा…!!

****

ghazal on life in hindi

 

प्यार के दर्द से चल रही है ज़िन्दगी..

बूंद बूंद बर्फ जैसे पिघल रही है ज़िन्दगी!

इक वादा था जो अन्जाम तक न पहुँच सका..

मौत के सांचे में अब ढल रही है ज़िन्दगी!

मेरे सनम काश तू मुझको समझ लेता..

अब रेत की तरह हाथ से फिसल रही है ज़िन्दगी!

किस हक से अब तुझको पुकारूं यह बता..

शर्म के बोझ तले अब दब रही है ज़िन्दगी….!!

****

also read:-

बहुत ही दर्द भरी गजल, rula dene wali ghazal

Zakhmi Dil Heart Touching Ghazal in Hindi

Gulzar Shayari on Zindagi,

heart touching ghazal in hindi

 

धुप में छाव की तलाश करो..

शहर में गाव की तलाश करो!

रोज रोने से कुछ नही हासिल..

अनदेखे घाव की तलाश करो!

उसकी उल्फत खरीदना है हमें..

जाओ ओर भाव की तलाश करो…!!

****

दोस्तों आपको यह शायरी ग़ज़ल कैसी लगी . Nice Ghazal In Hindi, hindi shayari ghazal, हिंदी शायरी ग़ज़ल फेसबुक पेज को like करें और साथ ही मेरे youtube channel को भी subscribe करें.

gulzar ki ghazal in hindi: प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी | गुलज़ार की ग़ज़ल इन हिंदी

gulzar ki ghazal in hindi: प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी | गुलज़ार की ग़ज़ल इन हिंदी

gulzar ki ghazal in hindi: प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी. गुलज़ार की ग़ज़ल इन हिंदी Latest Gulzar Sahab Shayari In Hindi, दर्द भरी ग़ज़ल हिंदी में लिखी हुई. हार्ट टचिंग ग़ज़ल इन हिंदी. हिंदी ग़ज़ल शायरी, रोमांटिक ग़ज़ल शायरी इन हिंदी. गुलज़ार शायरी इन हिंदी लिरिक्स. प्रेम गजल हिन्दी, मोहब्बत गजल हिंदी…

 

कोई तो करता होगा हमसे खामोश मोहब्बत हम भी किसी की अधूरी मोहब्बत है. gulzar ki ghazal in hindi hello दोस्तों आपका फिर से स्वागत हमारे शायरी ब्लॉग पर आज आपके लिए लेकर आई हूँ, gulzar shahab ki ghazal जिसको पढ़ने से दिल खुश हो जाता है. मैं आशा करती हूँ की यह शायरी ग़ज़ल आपको जरुर पसंद आएगी. अगर अच्छी लगे तो शेयर भी कर देना

 

gulzar ki ghazal in hindi

 

Teri Tarah Hi Bewafa Nikale Mere Ghar Ke Aaine bhi¸

Khud Ko Dekhu Teri Tasveer Nazar Aati He.

तेरी तरह ही बेवफा निकले मेरे घर के आईने भी¸

खुद को देखूं  तेरी तस्वीर नजर आती है…!!

 

*******

 

gulzar ki ghazal in hindi

 

 

 

ऐसा ख़ामोश तो मंज़र न फ़ना का होता

मेरी तस्वीर भी गिरती तो छनाका होता !

 

यूँ भी इक बार तो होता कि समुंदर बहता

कोई एहसास तो दरिया की अना का होता !

 

साँस मौसम की भी कुछ देर को चलने लगती

कोई झोंका तिरी पलकों की हवा का होता !

 

काँच के पार तिरे हाथ नज़र आते हैं

काश ख़ुशबू की तरह रंग हिना का होता !

 

क्यूँ मिरी शक्ल पहन लेता है छुपने के लिए

एक चेहरा कोई अपना भी ख़ुदा का होता…!!

 

********

 

 

हिंदी ग़ज़ल शायरी

 

आज फिर चाँद की पेशानी से उठता है धुआँ

आज फिर महकी हुई रात में जलना होगा!

 

फिर आज फिर सीने में उलझी हुई वज़नी साँसे

फटके बस टूट ही जाएँगी बिखर जाएँगी!

 

आज.. फिर जागते गुज़रेगी तेरे ख़्वाब में रात

आज फिर चाँद की पेशानी से उठता है धुआँ…!!

 

**********

 

 

प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी

 

हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते

वक़्त की शाख़ से लम्हें नहीं तोड़ा करते!

 

जिस की आवाज़ में सिलवट हो निगाहों में शिकन

ऐसी तस्वीर के टुकड़े नहीं जोड़ा करते!

 

शहद जीने का मिला करता है थोड़ा थोड़ा

जाने वालों के लिये दिल नहीं थोड़ा करते!

 

लग के साहिल से जो बहता है उसे बहने दो

ऐसी दरिया का कभी रुख़ नहीं मोड़ा करते…!!

 

**********

 

 

हार्ट टचिंग ग़ज़ल इन हिंदी

 

कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुजरा हूँ!

उनसे कितना कुछ कहने की कोशिश की

एक ही ख्वाब ने सारी रात जगाया है!

मैंने हर करवट सोने की कोशिश की

 

Kitni lambi khamoshi se guzra hoon!

Unse kitna kuchh kahne ki koshish ki

Ek hi khwab ne saari raat jagaya hai!

Maine har karvat sone ki koshish ki…!!

 

********

 

 

रोमांटिक ग़ज़ल शायरी इन हिंदी

 

मिलता तो बहुत कुछ है इस ज़िन्दगी में,

​बस हम गिनती उसी की करते है

जो हासिल ना हो सका…!!

 

*********

 

आदमी बुलबुला है पानी का

और पानी की बहती,

सतह पर टूटता भी है  डूबता भी है,

फिर उभरता है  फिर से बहता है,

न समंदर निगला सका इसको,

न तवारीख़ तोड़ पाई है,

वक्त की मौज पर सदा बहता,

आदमी बुलबुला है पानी का…!!

 

********

 

 

 

गुलज़ार की ग़ज़ल इन हिंदी

 

जब भी आंखों में अश्क भर आए

लोग कुछ डूबते नजर आए !

चांद जितने भी गुम हुए शब के

सब के इल्ज़ाम मेरे सर आए…!!

 

***********

gulzar ki ghazal in hindi: प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी | गुलज़ार की ग़ज़ल इन हिंदी

 

Romantic gulzar ki ghazal hindi main

 

Sham Se Aankh  Mein  Nami Si Hai.

Aaj Phir Aap Ki Kami Si Hai.

Waqt Rahta Nahin Kahi Tham Kar

Is Ki Aadat Bhi Aadami Si Hai

 

शाम से आँख में नमी सी है

आज फिर आप की कमी सी है

वक़्त रहता नहीं कहीं थमकर

इस की आदत भी आदमी सी है…!!

 

**********

Do line gulzar ki ghazal in hindi

 

ख़ामोशी का हासिल भी इक लम्बी सी ख़ामोशी थी

उन की बात सुनी भी हम ने अपनी बात सुनाई भी..!!

Khamoshi ka hasil bhi ik lambi si khamoshi thi,

Un ki baat suni bhi hum ne apni baat sunaai bhi…

 

********

Best gulzar ghazal in hindi

 

कांच के पीछे चाँद भी था और कांच के ऊपर काई भी

तीनों थे हम वो भी थे और मैं भी था तन्हाई भी

kaanch ke piche chand bhi tha aur kanch ke upar kai bhi

teeno the ham vo bhi the aur main bhi tha tanhai bhi…!!

 

*******

 

हसरतें अपनी बिलक्तीं न यतीमों की तरह

हम को आवाज़ ही दे लेते ज़रा जाते हुए !

सी लिए होंट वो पाकीज़ा निगाहें सुन कर

मैली हो जाती है आवाज़ भी दोहराते हुए…!!

Hasrate apni bilakti na yatimon ki tarah

Hum ko aawaz hi de lete jara jate hue,

Si liye hoth wp pakiza nigahe sun kar

Meli ho jaati hai aawaz bhi dohrate hue…!!

 

*******

 

दर्द भरी ग़ज़ल हिंदी में लिखी हुई

 

एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद

दूसरा सपना देखने के हौसले का नाम जिंदगी हैं…!!

Ek sapane ke tootkar chaknachur ho jaane ke baad

Dusra sapana dekhne ke hausle ka naam zindagi hai..!!

 

*********

 

 

मोहब्बत भरी गुलज़ार गजल हिंदी

 

मेरी कोई खता तो साबित कर

जो बुरा हूं तो बुरा साबित कर

तुम्हें चाहा है कितना तू क्या जाने

चल मैं बेवफा ही सही

तू अपनी वफ़ा साबित कर…!!

Meri koi khata to sabit kar

Jo bura hoon to bura sabit kar,

Tumhe chaaha hai kitna too kya jaane,

Chal main bewafa hi sahi,

Too apni wafa sabit kar…!!

 

*******

khubsurat pyar bhari hindi ghazal shayari, प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी

0
khubsurat pyar bhari hindi ghazal shayari
khubsurat pyar bhari hindi ghazal shayari

khubsurat pyar bhari hindi ghazal shayari, प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी. हार्ट टचिंग ग़ज़ल इन हिंदी. रोमांटिक ग़ज़ल शायरी इन हिंदी. दर्द भरी ग़ज़ल हिंदी में लिखी हुई. प्रेम गजल हिन्दी. दर्द भरी गजल स्टेटस. दुनिया की सबसे दर्द भरी गजल डाउनलोड. हिंदी गजल. दिल पर ग़ज़ल.

 

khubsurat pyar bhari hindi ghazal shayari

 

 

आज खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है

क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है

किसने कहा गले से लगा ले मुझको  मग़र

तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है…!!

 

******

 

हार्ट टचिंग ग़ज़ल इन हिंदी

 

दिल की बात लबों पर लाकर,

अब तक हम दुख सहते हैं..

हम ने सुना था इस बस्ती में दिल वाले भी रहते हैं..

 

बीत गया सावन का महीना,

मौसम ने नज़रें बदली,

लेकिन इन प्यासी आँखों में

अब तक आँसू बहते हैं..

 

एक हमें आवारा कहना

कोई बड़ा इल्ज़ाम नहीं,

दुनिया वाले दिल वालों को और बहुत कुछ कहते हैं..

 

जिस की ख़ातिर शहर भी छोड़ा

जिस के लिये बदनाम हुए,

आज वही हम से बेगाने-बेगाने से रहते हैं..

 

वो जो अभी रहगुज़र से,

चाक-ए-गरेबाँ गुज़रा था,

उस आवारा दीवाने को ज़लिब ज़लिब  कहते हैं…!!

 

*****

pyar bhari hindi ghazal shayari

 

मिलेगी खबर उन्हें तो वो आएगे,

मरने के बाद सही मगर वो आएगे..

 

ईद तो हम मनाएगे ज़रूर मगर,

कही जब हमें नज़र वो आएगे..

 

हम ने अपनी खुशिया लुटा दी उसके गमो पर,

आज गमगीन हूँ मै खुशिया मगर वो मनाएगे..

 

मै हँसाता रहा उन्हें सदा महफ़िलो में,

क्या थी खबर हमें इस कदर वो रुलाएगे..

 

आज भी रुका हूँ मै उसी सुनी सड़क पर,

इसी उम्मीद पर के लौट कर वो आएगे..

 

इसी लिए वक्ते रुख्सत मै ने उसे पुकारा नहीं,

आज नहीं तो कल सही मगर पलट कर वो आएगे..

 

सड़क भी पूछती है मुसाफिर से क्यों घर जाते नहीं,

होगा उन्हें एहसास तो वो फिर लौट कर आएगे…!!

 

*****

gulzar shayari on ishq in hindi

 

दिन आ गए शबाब के आँचल संभालिये,

होने लगी है शहर में हलचल संभालिये,

 

चलिए संभल संभल के कठिन राह-ऐ-इश्क़ है,

नाज़ुक बड़ी है आपकी पायल संभालिये,

 

सज धज के आप निकले सर-ए-राह ख़ैर हो,

टकरा न जाए आपका पागल संभालिये,

 

घर से ना जाओ दूर किसी अजनबी के साथ,

बरसेंगे जोर-शोर से बादल संभालिये…!!

 

******

khubsurat pyar bhari hindi ghazal shayari

 

टूट जाये न भरम होंठ हिलाऊँ कैसे,

हाल जैसा भी है लोगों को बताऊँ कैसे..

 

खुश्क आँखों से भी अश्कों की महक आती है,

मैं तेरे ग़म को ज़माने से छुपाऊँ कैसे..

 

तू ही बता मेरी यादों को भुलाने वाले,

मैं तेरी याद को इस दिल से भुलाऊँ कैसे..

 

फूल होता तो तेरे दर पे सजा रहता,

ज़ख़्म ले कर तेरी दहलीज़ पे आऊं कैसे..

 

तू रुलाता है तो रुला मुझे जी भर के,

तेरी आँखें तो मेरी हैं  मैं इन को रुलाऊँ कैसे…!!

 

*****

प्यार भरी ग़ज़ल

 

तपती आंखो में कहां जीते हैं ख्वाब,

धूप की जलन तो कहां पलते हैं ख्वाब…

 

ख्वाहिशों की नर्म छांव में बैठे बैठे,

आस टूट जाती है तो टूटते हैं ख्वाब…

 

रूई के फाहे से हल्के हल्के गाले,

आंधी चलती है तो उड़ते है ख्वाब…

 

वो दे रहा है बातों बातों में वादे,

धोखा देने को मुझे छलते हैं ख्वाब…

 

सोच लिया था आभा मैने पहले से,

ज़िंदा रहने को यहां कब मिलते है ख्वाब…!!

 

******

pyar bhari hindi ghazal shayari

 

कभी गुंचा कभी शोला कभी शबनम की तरह,

लोग मिलते हैं बदलते हुए मौसम की तरह..

 

मेरे महबूब मेरे प्यार को इलज़ाम न दे,

हिज्र में ईद मनाई है मुहर्रम की तरह..

 

मैंने खुशबू की तरह तुझको किया है महसूस,

दिल ने छेड़ा है तेरी याद को शबनम की तरह..

 

कैसे हमदर्द हो तुम कैसी मसीहाई है,

दिल पे नश्तर भी लगाते हो तो मरहम की तरह…!!

 

******

हिन्दी गजल शायरी

 

तुम को भुला रही थी कि तुम याद आ गए,

मैं ज़हर खा रही थी कि तुम याद आ गए..

 

कल मेरी एक प्यारी सहेली किताब में,

इक ख़त छुपा रही थी कि तुम याद आ गए..

 

उस वक़्त रात रानी मिरे सूने सहन में,

ख़ुशबू लुटा रही थी कि तुम याद आ गए..

 

ईमान जानिए कि इसे कुफ़्र जानिए,

मैं सर झुका रही थी कि तुम याद आ गए..

 

कल शाम छत पे मीर-तक़ी-मीर  की ग़ज़ल,

मैं गुनगुना रही थी कि तुम याद आ गए..

 

अंजुम  तुम्हारा शहर जिधर है उसी तरफ़,

इक रेल जा रही थी कि तुम याद आ गए…!!

 

******

प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी

 

मन को बहलाके खुद पर अहसान किया हमने,

पर सच कोई नज़रों से अनजान किया हमने..

 

इक उछलती लहर से लग जाता खुशियों का मेला,

कश्ती किनारे ले जाके समंदर वीरान किया हमने..

 

सस्ती हुई हँसी जो कीमती दर्द बन बैठा,

यादों से कर खिलवाड़  खुद का नुकसान किया हमने..

 

तहस नहस सारे सपने इन सूनी सूनी रातों में।

सुबह बिस्तर के हालात से यह बयान किया हमने…!!

 

******

khubsurat pyar bhari hindi ghazal

 

अपनी आँखों के समंदर में उतर जाने दे,

तेरा मुजरिम हूँ मुझे डूब के मर जाने दे..

 

ऐ नए दोस्त मैं समझूँगा तुझे भी अपना,

पहले माज़ी का कोई ज़ख़्म तो भर जाने दे..

 

आग दुनिया की लगाई हुई बुझ जाएगी,

कोई आँसू मेरे दामन पर बिखर जाने दे…!!

 

******

रोमांटिक ग़ज़ल शायरी इन हिंदी

 

तस्वीर का रुख एक नहीं दूसरा भी है,

खैरात जो देता है वही लूटता भी है..

 

ईमान को अब लेके किधर जाइयेगा आप,

बेकार है ये चीज कोई पूछता भी है..

 

बाज़ार चले आये वफ़ा भी, ख़ुलूस भी,

अब घर में बचा क्या है कोई सोचता भी है..

 

वैसे तो ज़माने के बहुत तीर खाये हैं,

पर इनमें कोई तीर है जो फूल सा भी है..

 

इस दिल ने भी फ़ितरत किसी बच्चे सी पाई है,

पहले जिसे खो दे उसे फिर ढूँढता भी है…!!

 

******

khubsurat pyar bhari hindi ghazal shayari

Pyar bhari ghazal in hindi

 

मैं वहीं खड़ी हूं जहां से में चली थी

तुम्हें याद हो के न याद हो

वो पल जिनमें दूरियां थी

नजदीकियां तुम्हें याद हो के न याद हो…!!

 

******

read more:

best heart touching ghazal in hindi | shayari ghazal gulzar si

best heart touching ghazal in hindi | shayari ghazal gulzar si

best heart touching ghazal in hindi | shayari ghazal gulzar si aaj aapke liye best ghazal shayari lekar aai hoon. Mein aasha karti hoon ki aaj ki shayari aapko jarur pasand aayegi. Agar aapko yeh shayari ghazal achhi lage to apne chahne wale ko jarur share karna..

 

best heart touching ghazal in hindi

 

Mujh Ko Shikast-E-Dil Ka Maza Yaad Aa Gaya,

Tum Kyon Udaas Ho Gaye  Kya Yaad Aa Gaya

 

Kahne Ko Zindagee Thi Bahat Mukhtsar Magar,

Kuch Yun Bsr Huye Ki Khuda Yaad Aa Gaya.

 

Barse Bina Hi Jo  Ghata Aage Nikal Gayi,

ek Bewafa Ka Ed-E-Wafa Yaad Aa Gaya.

 

Yoon Chok Uthe Wo Sun Kar Mera Shikva,

Jese Unhe Bhi Koi Gila Yaad Aa Gaya.

 

Hairat H Tum Ko Dekh Kar Masjid Main A Meohsn,

Kya Baat Ho Gayi Jo Khuda Yaad Aa Gaya…!!

 

*********

also read:-

heart touching ghazal in hindi

 

Har Shaam Us Se Milne Ki Aadat Si Ho Gayi H,

Phir Rafta Rafta Us Se Mohabbat Si Ho Gayi H.

 

Shaayad Yah Judaai Ka Taza-Taza Asr Tha,

Har Surat Yakbak Teri Surat Si Hi Gayi

 

ek Naam Jhilmilaney Laga Dil Ki Taaq Par,

ek Yaad Jaise Baas-E-Rahat Si Ho Gay.

 

Khud Ko Sanwaar Kar Rakhne Ka Shoaq Tha,

Phir Tumse Mujhe ek Wehshat Si Ho Gayi

 

Maine Koi Bayan-E-Safaai Nahi Diya Sahil,

Bas Chup Raha Khud Hi Wazahat Si Ho Gayi…!!

 

***********

best heart touching ghazal in hindi

 

मैं प्यार में शिकायत कर रहा हूँ,

मुझे शिकायत करना अच्छा लगता है

 

मैंने सुना है कि आदतें मरती नहीं हैं,

तो मैं अपनी आदत बना रहा हूँ

 

वो अब भी खूबसूरत है  पर मैं हूँ,

मैं इसे बेहतर कर रहा हूं

 

उसकी आँखों में उदासी भरी है

मैं सदियों से दौरा कर रहा हूँ,

 

कौन जानता है कि घड़ी कब आएगी

इसलिए हर दिन मैं पुनरुत्थान कर रहा हूँ,

 

मुझे किसी की जरूरत नहीं है

तो मैं अपना काम खुद कर रहा हूँ…!!

 

********

also read:-

 

हर एक साल हर दुख में जियो

जिंदगी के दो दिन में हजारों साल जिएं

 

सदियों से हमारे दोस्त का कोई अधिकार नहीं था

मैं दो-चार पल बस में था

 

रेगिस्तान के इस तरफ के सभी कारवां

आइए सुनते हैं जार की आवाज

 

होठों के साथ रात के टखने का एक छोर

चंद्रमा पर नजर रखें और होठों को स्पर्श करें

 

प्रार्थनाएं सीमित हैं

अगर हर सांस पर शांति है तो सौ साल जिएं..!!

 

*********

 

Jo Meri Ankh Main Rahta Tha Kajal Ki Tarah

Aaj Kajal Jo Lagaya Wo Bohat Yaad Aaya

 

erd Gird Hum Ne Bahat Door-Door Tak Dekha

Yaad Kuch Bhi Na Aaya Wo Bahat Yaad Aaya

 

Apni Qismat Main Nahi Un Ki Wafa Aye Hamdam

Daikh Kar Koi Bhi Saya Wo Bahat Yaad Aaya

 

Wo Mere Paas Agar Hota To Kiya Kuch Hota

Aaj Khud Ko Jo Sazaya Wo Bahat Yaad Aaya

 

Ankh Jaise Hi Uthaai Mere Aansu Nikle

Hath Jis Se Bhi Milaya Wo Bahat Yaad Aaya..!!

 

***********

best heart touching ghazal in hindi

 

Shikwa teri yaadon se es tarah kiya humne

Hanstey-hanstey dil ko rula diya humne,

 

Ek lamha diya tumne jeene ke liye

or us main zindagi ko bita diya humne,

 

Ek saffi par likhi teri yaad ki dastaan

Dusra hisa khali hai jala diya humne,

 

Kis baat ki mazarat chahte hai wo

Jis baat ko sunte hai bhula diya humne,

 

Wo kyun nahi aate humare paas Hans

Jin ki raho main palko ko bichha diya humne..!!

 

********

 

ghazal for love in hindi

 

तारीफ ना कर नूर की बढ़ता चला जायेगा,

खूबसूरती की गिरफ्त से फिर कौन बचायेगा,

 

आँखों में उनके नशा है दिल मैं है प्यार,

मिल गए दोनों यदि कभी संभल ना पायेगा,

 

तुझको इश्क़ का अभिमान मार ठोकर गिरायेगा,

दीवाना बन कर उनका पागल तु कहलायेगा,

 

लगे हाथ चुरा लेगी तेरी रातों की निंदिया,

इस उम्र के दौर में लोरी कौन सुनाएगा,

 

सजदा कर लेना मस्जिद  पूजा हवन करा लेना,

हर पंडित मौला का मुँह प्रेम गीत ही गायेगा..!!

 

********

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari, zindagi ki kadwi sachai shayari

0
Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari
Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

Pareshani se bhari zindagi shayari gulzar ki. Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari, zindagi ki kadwi sachai shayari. gulzar love shayari in hindi 2 lines. gulzar shayari in hindi 2 lines. gulzar shayari on zindagi, gulzar sad shayari on life. gulzar shayari on life in English. gulzar shayari on life partner, pareshani se bhari zindagi shayari gulzar shayari zindagi in hindi.

 

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

सच हमेशा कड़वा होता है..चैन तो इस दिल का खोता है, मीठे सपनों की ज़मीन पर. पेड़ क्यूँ नीम का बोता है, पहले जो हँसता है जितना. वहीं बाद में उतना रोता है..

 

sach hamesha kadwa hota hai chain to is dil ka khota hai mithe sapnon ki zameen par paid kyon neem ka bota hai pahle jo hansta hai jitna wahi baad mein utna rota hai..

 

ज़िंदगी के सही और गलत के बीच में क्या है, और जो सही है वो सही क्यों नहीं लगता, और जो गलत है वो सही क्यों लगता, सही और गलत का फैसला आखिर कौन करता है..

 

Zindagi Ke Sahi O Galt Ke Bich Main Kya Hai, Or Jo Sahi Hai Wo Sahi Kyon Nahi Lagta, Or Jo Galt Hai Wo Sahi Kyon Lagta, Sahi Or Galt Ka Faisla Aakhir Kaun Karta Hai..

 

****

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari
Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

gulzar shayari in hindi 4 lines

 

ए जिंदगी तुझसे वादा है मेरा

तेरे दिए हर गम को गीत बना देंगे

जिंदगी की हर समस्या को प्रीत बना देंगे..

Read More :

Aye Zindagi Tujhse Wada Hai Mera, Tere Diye Har Gam Ko Geet Bana Denge, Zindagi Ki Har Samasya Ko Preet Bana Denge..

 

****

खुशी मिली है न सके गम मिला तो रो न सके

ज़िन्दगी का यही दस्तूर है

जिसे चाहा उसे पा न सके

और जिसे पाया उसे चाह न सके..

 

Khushi Mili Hai Na Sake Gam Mila To Ro Na Sake, Zindagi Ka Yahi Dastoor Hai, Jise Chaaha Use Pa Na Sake. Or Jise Paya Use Chaah Na Sake..

********

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

gulzar shayari on life in english

छोटी सी जिंदगी है अरमान बहुत है,

हमदर्द नहीं कोई इंसान बहुत है,

दिल का दर्द सुनाए तो किसको,

जो दिल के करीब है वो अनजान बहुत है..

 

Chhoti Si Zindagi Hai Armaan Bahut Hai, Humdard Nahi Koi Insaan Bahut Hai, Dil Ka Dard  Sunaye To Kisko, Jo Dil Ke Kareeb Hai Wo Anzaan Bahut Hai..

****

कभी कभी लगता है जी लूँ जिंदगी,

कभी कभी लगता है छोड़ दूँ जिंदगी,

इस जिंदगी के किस्से बहुत हैं,

मन करता है कागज़ पर लिख दूँ जिंदगी..

 

Kabhi Kabhi Lagta Hai Jee Loon Zindagi, Kabhi Kabhi Lagta Hai Chhod Doon Zindagi, Is Zindagi Ke Kisse Bahut Hai, Man Karta Hai Kagaz Par Likh Doon Zindagi..

****

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

सच्चे किस्से शराबखाने में सुने,

वो भी हाथ मे जाम लेकर,

झूठे किस्से अदालत में सुने,

वो भी हाथ मे गीता कुरान लेकर..

 

Sachche Kisse Sharabkhane Main Sune, Wo Bhi Hath Main Jaam Lekar, Jhoothe Kisse Adalat Main Sune, Wo Bhi Hath Main Geeta Kuraan Lekar..

****

हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि

हर ख़्वाहिश पे दम निकले

बहुत निकले मेरे अरमान

लेकिन फिर भी कम निकले…

 

Hazaro Khwahish Aisi Ki. Har Khwahish Pe Dum Nikale. Bahut Nikale Mere Armaan, Lekin Fir Bhi Kam Nikale..

 

****

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

 

zindagi ki kadwi sachai shayari

ज़िन्दगी में ख़ुशी नहीं गम पड़ गए

आँखों से निकले आंसूं भी नम पड़ गए

वक़्त ही कुछ ऐसा पड़ा यारों कि

बयां करने के लिए लफ्ज़ ही कम पड़ गए..

 

zindagi mein khushi nahi gam pad gaye, aankhon se nikale aansoon bhi nam pad gaye, waqt hi kuch aisa pada yaaron ki, bayaa karne ke liye laphz hi kam pad gaye..

***

फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में,

फर्क होता है किस्मत और लकीर में..

अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना..

कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में..

 

fark hota hai khuda aur faqeer mein, fark hota hai kismat aur lakeer mein.. agar kuch chaaho aur na mile to samjh lena.. ki kuch aur achcha likha hai taqadeer main..

****

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

pareshani se bhari zindagi shayari

कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,

सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिलसिला होगा,

जो लम्हे है चलो हंसकर बिता लें,

जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा…

 

kal na hum honge na koi gila hoga, sirf simti hue yaadon ka silsila hoga, jo lamhe hai chalo hans kar bita le, jaane kal zindagi ka kya faisla hoga…

***

Zindagi pareshani se bhari

जिंदगी बहुत खूबसूरत है,

जिंदगी से प्यार करो,

अगर हो रात तो, सुबह का इंतजार करो,

वो पल भी आएगा जिसका तुझे इंतेज़ार है,

बस उस खुदा पर भरोसा और वक्त पर ऐतवार करो..

 

zindagi bahut khoobasoorat hai, zindagi se pyaar karo, agar ho raat to, subah ka intezaar karo, wo pal bhi aayega jiska tujhe intezaar hai, bas us khuda par bharosa aur waqt par aitebaar karo..

***

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

अब तो अपनी तबियत भी जुदा लगती है,

सांस लेता हूँ तो ज़ख्मों को हवा लगती है,

कभी राजी तो कभी मुझसे खफा लगती है,

जिंदगी तू ही बता तू मेरी क्या लगती है..

 

ab to apni tabiyat bhi juda lagti hai, saans leta hoon to zakhmon ko hawa lagti hai, kabhi raaji to kabhi mujhse khafa lagti hai, zindagi too hi bata to meri kya lagti hai..

****

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari
Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

यह मेरा टूटना और टूट कर बिखर जाना,

कोई इत्तेफाक नहीं है,

किसी ने बहुत मेहनत की है,

मुझे इस हाल तक पहुंचाने के लिए..

 

yah mera tootna aur toot kar bikhar jaana, koi itefaak nahi hai, kisi ne bahut mehnat ki hai, mujhe is haal tak pahuchaane ke liye..

****

zindagi shayari gulzar ki

जेहन तक तस्लीम कर लेता है उसकी बर्तरी,

आँख तक तस्दीक कर देती है बंदा ठीक है,

एक तेरी आवाज़ सुनने के लिए ज़िंदा है हम,

तू ही जब ख़ामोश हो जाए तो फिर क्या ठीक है..

 

jehan tak tasleem kar leta hai usaki bartri, aankh tak tasdeek kar deti hai banda thik hai, ek teri aawaaz sunne ke liye zinda hai hum, too hi jab khamosh ho jaaye to phir kya thik hai..

****

Zindagi pareshani se bhari gulzar shayari

Zindagi pareshani se bhari shayari gulzar

ज़िन्दगी की जरूरतें समझिए

वक्त कम है  फरमाइश लम्बी हैं

झूठ-सच  जीत हार की बातें छोड़िये,

दास्तान बहुत लम्बी है..

 

zindagi ki jarurate samjhi waqt kam hai faramahish lambi hai jhooth-sach jeet haar ki baate chhodiye, daastan bahut lambi hai..

***

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari | shayari jo dil ko chu jaye

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari. shayari jo dil ko chu jaye

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari. shayari jo dil ko chu jaye. gulzar shayari. दिल को धड़काने वाली शायरी. गुलज़ार शायरी इन हिंदी २ लाइन्स. बेस्ट ऑफ़ गुलज़ार. दर्द भरी शायरी जो दिल को छू जाए. दिल को छू जाने वाली शायरी हिंदी में. दिल टूट जाने वाली शायरी. 2 लाइन दिल को छू जाने वाली शायरी. दिल को छू जाने वाली शायरी हिंदी में. shayari jo dil ko chu jaye. दिल को चुभ जाने वाली शायरी. Shayari aisi ki dil ko chu jaayegi. गुलजार हिंदी कविता.

 

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari,

 

परखना मत  परखने में कोई अपना नहीं रहता,

किसी भी आईने में देर तक चेहरा नहीं रहता

Parkhna mat parkhne mein koi apna nahi rahta,

Kisi bhi aaine mein der tak chehra nahi rahta

 

बड़े लोगों से मिलने में हमेशा फ़ासला रखना,

जहां दरिया समन्दर में मिले  दरिया नहीं रहता

Bade logo se milne mein hamesha fasla rakhna,

Janha dariya samndar me mile daria nahi rahta

 

हजारों शेर मेरे सो गए कागज की कब्रों में,

अजब मां हूं कोई बच्चा मेरा ज़िन्दा नहीं रहता

Hazaro sher mere so gaye kagaz ki kabro mein,

Ajab maa hoon koi bachcha mera zinda nahi rahta

 

तेरा शहर तो बिल्कुल नए अन्दाज वाला है,

हमारे शहर में भी अब कोई हमसा नहीं रहता

Tera shahar to bilkul naye andaz wala hai,

Hamare shahar mein bhi ab koi hamsa nahi rahta

 

मोहब्बत एक खुशबू है  हमेशा साथ रहती है,

कोई इन्सान तन्हाई में भी कभी तन्हा नहीं रहता

Mohabbat ek khushbu hai hamesha saath rahti hai,

Koi insaan tanhaai me bhi tanha nahi rahta

 

कोई बादल हरे मौसम का फ़िर ऐलान करता है,

ख़िज़ा के बाग में जब एक भी पत्ता नहीं रहता

Koi baadal hare mausam ka fir eilaan karta hai,

Fiza ke bag mein jab ek bhi patta nahi rahta…!!

 

************

 

tanhaai hindi dard bhari ghazal shayari

 

टूट जाएँ न भर्म होंठ हिलाऊँ कैसे,

हाल जैसा भी है लोगों को बताऊँ कैसे

Toot jaye nab harm hoth hilaau kaise,

Haal jaisa bhi hai logo ko bataau kaise..

 

खुश्क आँखों से भी अश्कों की महक आती है,

मैं तेरे ग़म को ज़माने से छुपाऊँ कैसे

Khushk aankho se bhi ashko ki mahak aati hai,

Main tere gum ko zamane se chhupaau kaise

 

तू ही बता मेरी यादों को भुलाने वाले,

मैं तेरी याद को इस दिल से भुलाऊँ कैसे

Too hi bata meri yaado ko bhulane wale,

Main teri yaad ko is dil se bhulaau kaise

 

फूल होता तो तेरे दर पर सजा रहता,

ज़ख़्म लेकर तेरी दहलीज़ पर आऊं कैसे

Phool hota to tere dar par saza rahta,

Zakhm lekar teri dahliz par aau kaise

 

तू रुलाता है तो रुला मुझे जी भर कर,

तेरी आँखें तो मेरी हैं  मैं इन को रुलाऊँ कैसे

Too rulata hai to rula mujhe jee bhar kar,

Teri aankhe to meri hai mein in ko rulaau kaise…!!

 

********

दिल को चुभ जाने वाली शायरी,

 

कोई जाता है यहाँ से न कोई आता है,

यह दीया अपने ही अँधेरे में घुट जाता है

Koi jata hai yaha se na koi aata hai,

Yeh diya apne hi andhere mein ghut jata hai

 

सब समझते हैं वही रात की किस्मत होगा,

जो सितारा बुलंदी पर नजर आता है

Sab samjhte hai wahi raat ki kismet hoga,

Jo sitaara bulandi par nazar aata hai

 

 

मै इसी खोज में बढ़ता ही चला जाता हूँ,

किसका आँचल है जो पर्बत पर लहराता है

Mein isi khoz mein badhta hi chala jata hoon,

Kiska aanchal hai jo parbat par lahrata hai

 

 

मेरी आँखों में एक बादल का टुकड़ा शायद,

कोई मौसम हो सरे शाम बरस जाता है

Meri aankho mein ek baadal ka tukada shaayad,

Koi mausam ho sare shaam baras jata hai

 

दे तसल्ली कोई तो आँख छलक उठती है,

कोई समझाए तो दिल ओर भी भर आता है

De taslli koi to aakh chalk uthati hai,

Koi samjhaye to dil or bhi bhar aata hai..!!

 

***********

dard bhari ghazal shayari,

 

दुनिया के दियें ज़ख्मों के  निशान अभी बाकी हैं,

हम जी रहे हैं इस लिए कि अरमान अभी बाकी हैं

Duniya ke diye zakhmo ke nishan abhi baki h,

Hum jee rahe hai is liye ki armaan abhi baki h

 

देख कर हमें बदल देते हैं लोग अपना रास्ता अब,

शायद आते हैं वो यह देखने कि  प्राण अभी बाकी हैं

Dekh kar hame badal dete hai log apna raasta ab,

Shayad aate hai wo yeh dekhne ki pran abhi baki h

 

छोड़ देते यह शहर यह गलियां सदा के लिए हम तो,

पर क्या करें कुछ लोगों के  अहसान अभी बाकी हैं

Chhud dete yeh shahar yeh galiyan sada ke liye hum to,

Par kya Karen kuch logo ke ahsaan abhi baki hai

शायद  लुट तो चुके हैं हम इस दुनिया के बाजार में,

पर घर में मेरी यादों के कुछ  सामान अभी बाकी हैं

Shayad loot to chuke hai hum is dunia ke bazaar mein,

Par ghar mein meri yaado ke kuch saaman abhi baaki h..!!

 

*********

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach, Gulzar shayari on zindagi

0
gulzar shayari zindagi ka kadwa sach
gulzar shayari zindagi ka kadwa sach

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach, Gulzar shayari on zindagi. gulzar love shayari in hindi 2 lines gulzar shayari on ishq in hindi.best shayari on ishq. गुलजार साहब की शायरी कड़वा सच जिंदगी का एक बार जरूर पढ़ें और अपने चाहने वालों के साथ साझा जरूर करना दोस्तो मे आपके लिए हर अच्छी अच्छी शायरी का खजाना लेकर आती हूँ। अगर आपको ये पसंद आए तो हमारे youtube channel को भी subscribe कर देना..

 

 

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach

 

बदल जाओ वक़्त के साथ

या वक़्त बदलना सीखो,

मजबूरियों को मत कोसो,

हर हाल में चलना सीखो.

 

Badal Jaate Waqt Ke Sath

Ya Waqt Badalna Sikho,

Mazburiyon Ko Mat Kauso,

Har Haal Mein Chalna Sikho…

****

कैसे कह दू कि महंगाई बहुत है,

मेरे शहर के चौराहे पर आज भी..

एक रुपये में कई कई दुआएं मिलती है …

****

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach

 

gulzar shayari zindagi on smile

पता हैं ज़िंदगी फिसल जाएगी

इन हाथो से एक दिन,

तो क्यों ना सबको माफ़ कर दिया जाए,

कुछ पल के लिए ही सही ,

अपना बनके रहा जाए..

****

पहली मोहब्बत लोगों को

एक बात सिखा देती है

कि दूसरी अगर करो

तो हद में रहकर करना..

****

gulzar shayari zindagi best urdu

जब भी ये दिल उदास होता है,

जाने कौन आस पास होता है,

कोई वादा नहीं किया लेकिन

क्यूँ तेरा इंतज़ार रहता है..

***

gulzar shayari on zindagi

शाम से आँख में नमी सी है,

आज फिर आप की कमी सी है.

दफ़्न कर दो हमें के साँस मिले,

नब्ज़ कुछ देर से थमी सी है..

****

मैंने दबी आवाज़ में पूछा,

मुहब्बत करने लगी हो?

नज़रें झुका कर वो बोली.. बहुत..

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach

gulzar shayari zindagi quotes on ishq

 

Maine Dabi Aawaz Me Puchh

Mohabbat Karane Lagi Ho

Nazare Jhuka Kar Wo Boli.. Bahut..

****

मत पूछो कैसे गुज़रता है

हर पल तुम्हारे बिना

कभी बात करने की हसरत

तो कभी देखने की तमन्ना..

 

Mat pucho kaise guzarta hai

Har pal tumhare bina

Kabhi baat karne ki hasrat

Toh kabhi dekhne ki tamanna..

****

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach

 

gulzar shayari zindagi mohabbat in hindi

दिल में कुछ जलता है शायद,

धुआँ धुआँ सा लगता है

आँख में कुछ चुभता है शायद,

सपना सा कोई सुलगता है..

 

Dil main Kuch jalta hai shayad,

Dhua Dhua sa Lagta Hai,

Ankh main kuch chubhta hai shayad,

Sapna sa koi sulagta hai..

****

जब भी आंखों में अश्क भर आए

लोग कुछ डूबते नजर आए

चांद जितने भी गुम हुए शब के

सब के इल्ज़ाम मेरे सर आए..

****

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach

 

gulzar shayari zindagi love in hindi

क़यामत तक याद करोगी,

किसी ने दिल लगाया था,

एक होने की उम्मीद भी ना थी,

फिर भी पागलो की तरह चाहा था..

 

Qayaamat tak yaad karogi,

kisi ne dil lagaya tha,

ek hone ki ummeed bhi na thi,

phir bhi paglo ki tarah chaaha tha..

****

best quotes on mohabbat in urdu

आज मैंने खुद से एक वादा किया है,

माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है,

हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ,

अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है..

****

मैंने मौत को देखा तो नहीं,

पर शायद वो बहुत खूबसूरत होगी,

कमबख्त जो भी उससे मिलता हैं,

जीना ही छोड़ देता हैं,

उम्र जाया कर दी लोगो ने

औरों में नुक्स निकालते निकालते,

इतना खुद को तराशा होता तो फरिश्ते बन जाते..

****

best urdu shayari on mohabbat

 

Umar zaya kar di logo ne

Auro mein nuks nikalte nikalte

Itna khud ko tarasha hota

To farishte ban jaate..

****

zindagi ka kadwa sach

गलतियाँ भी होंगी और

गलत भी समझा जाएगा

यह ज़िन्दगी है जनाब

यहाँ तारीफे भी होगी

और कोसा भी जाएगा..

 

Galitya bhi hongi aur

Galat bhi samjha jayega

Yeh zindagi hai janab

Yaha taarife bhi hogi

Aur kosa bhi jaayega..

****

gulzar shayari zindagi ka kadwa sach

gulzar shayari in hindi

आदतन तुमने कर दीए वादे,

आदतन हमने एतबार किया,

तेरी राहों में बारहाँ रुक कर,

हमने अपना ही इंतज़ार किया,

अब ना मांगेंगे ज़िन्दगी या रब,

यह गुनाह हमने जो एक बार किया…

 

Aadatan tumne kar diye waade,

Aadatan humne aitbar kiya,

Teri raahon mein baarhan ruk kar,

Humne apna hi intezaar kiya,

Ab naa mangenge zindagi yaa rab,

Yeh gunaah humne jo ek baar kiya…

****

read more:-

आओ तुमको उठा लूँ कंधों पर,

तुम उचकाकर शरीर होठों से चूम लेना,

चूम लेना ये चाँद का माथा,

आज की रात देखा ना तुमने,

कैसे झुक-झुक के कोहनियों के बल,

चाँद इतना करीब आया है..

****

gulzar shayari on zindgi

तुम्हें मोहब्बत कहां थी,

तुम्हें तो सिर्फ़ आदत थी,

मोहब्बत होती तो हमारा..

पल भर का बिछड़ना भी,

तुम्हे सुकून से जीने नहीं देता..

****

अकेला जरूर हु पर कमज़ोर नहीं,

पूरा समुन्दर हु सिर्फ शोर नहीं,

पूरी दुनिया जितना है अभी तो.

उससे पहले बांधे मुझको ऐसी कोई डोर नहीं..

****

Trending Post