Sushant Singh Rajput Sad Shayari, सुशांत सिंह राजपूत सेड शायरी,Sad Shayari

Share This

Sushant Singh Rajput Sad Shayari, सुशांत सिंह राजपूत सेड शायरी,Sad Shayari.

दोस्तों नमस्कार आज की शायरी ऐसी है बड़े ही दुःख भरी जो एक बड़े ही लोक प्रिय हम सबके चहते सुशांत सिंह राजपूत जी पर है. सेड शायरी उनकी चाहती बहन के लिए. उनके माता पिता के और पुरे भारत के चहते को हमारी और से उनके लिए निधन पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि अलविदा सुशांत जी. Sushant Singh Rajput Sad Shayari. सुशांत सिंह राजपूत सेड शायरी, Sad Shayari.

Sushant singh rajput shayri,

तुमने इस दुनिया में एक पहचान बनाई थी,

दिलों पर राज़ करने की एक शान बनाई थी,

तुम सबसे अलग रहने की क्या कसम खाई थी,

अगर हमें यू ही छोड़ कर जाना था,

तो सबके दिलों में अपनी जगह क्यों बनाई थी…..!!

——-

Tumne Is Duniya Mein Ek Pehchaan Banaai Thi,

Dilon Par Raaz Karne Ki Ek Shaan Banaai Thi,

Tum Sabse Alag Rahne Ki Kasam Khaai Thi,

Agar Hame Yoon Hi Chhod Kar Jaana Tha,

To Sabke Dilon Mein Apni Jagah Kyon Banaai Thi…..!!

********

Sushant Singh Rajput Sad Shayari,

तू तो एक आसमान का चमकता तारा था,

ना तेरे जैसा है और ना होगा फिर इस जंहा मैं,

जिसको थी तेरी जरुरत उसकी आखों मैं है आंसू,

क्या हुई थी खता हमसे तू तो सबका प्यारा था,

पहले पता नहीं था हमें दे जायेगा तू दगा हमको,

सोचा क्यों नहीं तूने एक तू ही बाप का सहारा था…..!!

———-

Too To Ek Aasmaan Ka Chamkata Taara Tha,

Na Tere Jaisa Hai Aur Na Hoga Phir Is Janha Mein,

Jisko Thi Teri Zarurat Uski Aankhon Mein Hai Aansoo,

Kya Hue Thi Khata Humse Tu To Sabka Pyara Tha,

Pehle Pata Nahi Tha Humein De Jaayega Tu Daga Humko,

Socha Kyon Nahi Tune Ek Tu Hi Baap Ka Sahara Tha….!!

********

Sushant Singh Rajput Sad Shayari, सुशांत सिंह राजपूत सेड शायरी,Sad Shayari

Sushant singh rajput dard bhari shayari,

यारा सुशांत तू जहा भी हो खुश रहे,

तुम तो ऐसे जहाँ में चले गए हो,

हमारी और अपनों की आँखें नम हो गई,

तेरे दुश्मन जहा भी हो हमेशा हमेशा बेहोश रहे…..!!

———

Yaara Sushant Too Janha Bhi Ho Khush Rahe,

Tum To Aise Janha Mein Chale Gaye Ho,

Hamari Aur Apno Ki Aankhe Nam Ho Gai,

Tere Dushman Janha Bhi Ho Hamesha Behosh Rahe…..!!

********

Sushant Singh Rajput Sad Shayari,

सबका प्यारा था तेरी माँ का आखों का तारा था,

सब तारों में से चमकता एक तू ही न्यारा था,

मंदिरों के दर पर जाकर मांगी थी तेरे लिए दुवा,

एक बहन की ख़ुशी का तू ही तो सहारा था……!!

————

Sabka Pyara Tha Teri Maa Ka Aankhon Ka Tara Tha,

Sab Taaron Mein Se Chamakta Ek Too Hi Nyara Tha,

Mandiron Ke Dar Par Jakar Maangi Thi Tere Liye Duwa,

Ek Bahan Ki Khushi Ka Tu Hi To Sahara Tha…..!!

********

Sushant singh rajput  dukhad shayari,

वादे तो हजारों किये थे उसने मुझसे,

काश एक वादा ही उसने निभाया होता,

मौत का किसको पता था कि कब आएगी,

पर काश उसने ज़िन्दा जलाया न होता…..!!

———

Wade To Hazaron Kiye The Usne Mujhse,

Kaash Ek Wada Hi Usne Nibhaya Hota,

Maut Ka Kis Ko Pata Tha Ki Kab Aayegi,

Par Kaash Usne Zinda Zalaya Na Hota…..!!

********

Read More Sad Shayari:


Share This