tere ishq mein dhoka | dhoka shayari in hindi | तेरे इश्क़ में धोका

Share This

tere ishq mein dhoka | dhoka shayari in hindi | तेरे इश्क़ में धोका,

tere ishq mein dhoka. dhoka shayari in hindi. तेरे इश्क़ में धोका best हिंदी धोका शायरी कलेक्शन dil तोड़ dene wali shayari dhoka आज की पेशकश है आप लोगो के लिए like aur share जरुर करना.

 

dhoka shayari in hindi

माना मेरा प्यार एक तरफा था,

गुनाह भी मेरा था इस लिए दर्द भी मुझे मिला,

पर बस इतना बता दे ए खुदा,

जब वो पहले ही किसी ओर के थे,

तो मोहब्बत मैं बलिदान हम क्यों हुवे….!!

*****

Abhi Suraj Nhi Duba Jara Shaam Hone De,

Mein Khud Laut Jaaunga Mujhe Naakaam To Hone De,

Mujhe Badnaam Karne Ka Bahaana Dhundhta He Zamaana,

Mein Khud Ho Jaaunga Badnaam Pehle Mera Naam To Hone De….!!

****

तुमने हमें धोखा दिया,

मगर तुम्हे प्यार मिले

मुझसे भी ज़्यादा दीवाना,

तुम्हे कोई यार मिले….!!

****

pyar me dhoka dene wali shayari

Mohabbat main koi jee gaya koi pyar main mar gaya,

Mohabbat aag ko sagar he phir bhi uttar gaya koi,

Pyar main zakhm ka hissa  bahut pooran he mere dost,

zakhm de gaya koi zakhm bhar gaya koi….!!

****

तेरे बिन टूट कर बिखर जायेंगे,

तुम मिल जाओ तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे,

तुम ना मिली तो जीते जी मर जायेंगे,

तुम्हे जो पा लिया तो मर कर भी जी जायेंगे…..!!

****

tere ishq mein dhoka | dhoka shayari in hindi | तेरे इश्क़ में धोका
tere ishq mein dhoka | dhoka shayari in hindi | तेरे इश्क़ में धोका

dhoka shayari 2 lines

Tere is jhuti mohabbat ke fasaane main aisa kho gaya mein,

ki tujhe paane ke liye duniya to chhodo khud ko bhi bhul gaya mein….!!

****

मेरी बर्बादी का इल्जाम ना आता तुझ पर जाना,
उस शाम गली मैं गर मैं तुझसे ना टकराया होता,
जख्म मिलते तुझे भी अगर प्यार मैं मेरी ही तरह,
अश्क़-ए-लहू कुछ तेरी आँखों ने भी बहाया होता…..!!

*****

pyar me dhoka shayari hindi

जान कर भी वो मुझे जान न पायें,

आज तक वो मुझे पहचान न पायें,

खुद ही कर ली बेवफ़ाई हमने,

ताकि उनपर कोई इल्ज़ाम न आयें….!!

****

Nhi rakhte hum wafa ki ummeed kisi se,

Hum ne har taraf bewafaai jo paai he,

Mat dhund humare chehre par zakhm ke nishaan,

Hum ne har chot dil par khaai he….!!

****

tere ishq mein dhoka

सच्चा प्यार किया था,

तो अब  हम भी बेवफाई के गीत गाएंगे,

बेवफाई में तेरा नाम न उठे,

इसलिए हम आसू लेकर हर शहर मुकुरायेंगे….!!

****

Us ghadi dekho unka aalam,

Nind se jab hoon bhojhal aakhe,

Kon meri nazar main samaye,

Dekhi he mene tumhari aankhe….!!

****

matlabi dhoka shayari

मत पूछ ज़िन्दगी कैसे गुजरती हें तन्हाई में,

आँखों से बरसते हें आँसू उनकी जुदाई में,

न जाने किस जुर्म की सजा मिली हें मुझे

बहुत रोता हें दिल मेरा उनकी बेवफाई में….!!

****

Sath Rahna Tha Hi Nhi To,

Tumne Hamse Nata Kyon Joda,

Hame Dhoka De Kar Tumne,

Hume Kahi Ka Nahi Chhoda….!!

****

हर हीरा चमकदार नहीं होता,

हर समंदर गहरा नहीं होता,

दोस्तों ज़रा संभल कर प्यार करना,

हर खूबसूरत चेहरा वफादार नहीं होता….!!

****

apno ne diya dhokha shayari

Sath Jeene Marne Kaa Waada Tha,

Mar Ke Bhi Sath Na Chhodne Kaa Waada Tha,

Saari Baato Se Tu Mukar Kyon Gai,

Yeh Sanam Tu Mujhe Dhoka De Kar Chali Gai….!!

****

यू तो हर दिल में इक कशिश होती हे

हर कशिश में इक ख्वाहिश होती हे,

मुमकिन नही सभी के लिए ताज महल बनाना,

लेकिन हर दिल में इक मुमताज़ होती हे…..!!

****

jaan tere ishq mai dhoka hi mila

Kuchh Lutkar  Kuchh Lutakar Laut Aaya Hun,

Wafa Ki Umeed Main Dhokha Khakar Laut Aaya Hun,

Ab Tum Yaad Bhi Aaogi Phir Bhi Na Paaogi,

Hanste Labon Se Aise Saare Ghum Chhupakar Laut Aaya Hun….!!

कुछ लुटकर  कुछ लूटाकर लौट आया हूँ,

वफ़ा की उम्मीद में धोखा खाकर लौट आया हूँ,

अब तुम याद भी आओगी  फिर भी न पाओगी,

हसते लबों से ऐसे सारे ग़म छुपाकर लौट आया हूँ….!!

****

चाहते थे जिन्हे उनका दिल बदल गया,

समन्दर तो वही गहरा हे पर साहिल बदल गया,

कतल ऐसा हुआ किस्तो मे मेरा,

कभी बदला खंजर तो कभी कातिल बदल गया…..!!

****

jaan tere ishq mai dhoka hi mila

Dard ki mehfil main ik sher hum bhi arz kiya karte,

Na kisi se marham Na duaon ki Ummed kiya karte,

he kahi chehre lekar log yaha jeeya karte he,

hum in aasuo ko ik chehre ke liye peeya karte he….!!

****


Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *