Home Aankhein Shayari

teri nashili mast aankho par shayari? नशीली आँखों पर शायरी

17
0
teri nashili mast aankho par shayari
teri nashili mast aankho par shayari

teri nashili mast aankho par shayari? नशीली आँखों पर शायरी-aankho par shayari, teri nashili aankhen shayari in hindi, nashili aankho par shayari, nashili aankho pe shayari.

 

नशीली आँखों पर शायरी in English, खूबसूरत आँखों पर शायरी. teri nashili aankhen shayari in hindi, teri aankhon ki namkeen mastiyan shayari in hindi. teri aankhon ki namkeen mastiyan shayari in english.

 

teri nashili mast aankho par shayari

 

tere hotho ne jo baat chhupaai hai

teri aankho ne wo chupke se bataai hai

raaz dafan kar le seene main hazar

teri aankho ne hare k sachchaai bataai hai..

****

तेरे होंठों ने जो बात छुपाई है

तेरी आंखों ने वो चुपके से बताई है

राज दफन कर ले सीने में हज़ार

तेरी आंखों ने हर एक सच्चाई बताई है..

****

Hotho pe ulfat ka naam hota hai

Aankhon main chhalkata zaam hota hai

Talwaaron ki jarurat vaha kaise

Jaha nazaron se katle –e-aam hota hai..

****

नशीली आँखों पर शायरी

 

होंठों पे उल्फत का नाम होता है,

आँखों में छलकता जाम होता है,

तलवारों की ज़रूरत वहां कैसे,

जहाँ नज़रों से कत्ल-ए-आम होता है..

***

Usne ankhon se Ankhen jab mila di

zindagi jhoom kar muskura di

zuban se to hum kuch bhi na keh sake

par Ankhon ne Dil ki kahani suna di..

****

उसने आँखों से आँखें जब मिला दी

ज़िंदगी झूम कर मुस्कुरा दी

ज़ुबान से तो हम कुछ न कह सके

पर आँखों ने दिल की कहानी सुना दी..

****

Mast Aankhon Par Ghani Palkon Ki Chhaya Yun Thi,

Jaise Ki Ho Maikhane Par Ghanghor Ghata Chhai Hui..

***

teri nashili aankhen shayari

 

मस्त आंखों पर घनी पलकों की छाया यूँ थी,

जैसे कि हो मैखाने पर घरघोर घटा छाई हुई..

***

teri nashili mast aankho par shayari
  • Save
Teri nashili mast aankho par Shayari

 

Chhupa loon tujhko apni baahon main is tarah

Ki hawa bhi guzarne ki izazat maange

Madhosh ho jaaun tere pyar main tarah

Ki hosh bhi aane ki izazat maange..

****

छुपा लूं तुझको अपनी बाँहों में इस तरह

कि हवा भी गुजरने की इजाज़त मांगे

मदहोश हो जाऊं तेरे प्यार में इस तरह

कि होश भी आने की इजाज़त मांगे..

****

teri nashili aankhen shayari in hindi

 

Mere bas  mein  agar  hota

hataa  kar chaand  taaron  ko

Main  neele  aasmaan pe

bas teri  aankhein  bana  deta..

****

मेरे  बस में अगर  होता

हटा कर चाँद  तारों  को

नीले  आसमान  पे

बस तेरी  आँखें  बना  देता..

***

teri aankhon ki namkeen mastiyan shayari in hindi

 

Wo Khane Lagi Naqab Mein

Bhi Pahchan Lete Ho Hazaron  Ke Bich

Mene Muskura Ke Kaha

Teri Aankhon Se Hi Suru Huwa Tha

Ishq Hazaron Ke Bich…

****

वो कहने लगी  नकाब में

भी पहचान लेते हो हजारों के बीच

मैंने मुस्करा के कहा

तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था

इश्क हज़ारों के बीच..

****

teri nashili mast aankho ki hindi shayari

 

Humesha jo khud ko sajaaye rakhte hai

Ander aur hi huliya banaaye rakhte hai

Patthar aankhe hi dikhai deti hai or

Dil main ek dariya sa rukaaye rakhte hai..

****

हमेशा जो खुद को सजाये रखते हैं

अंदर और ही हुलिया बनाये रखते हैं

पत्थर आँखें ही दिखाई देती हैं और

दिल में एक दरिया सा रुकाये रखते हैं..

****

teri nashili mast aankho ki shayari

 

Teri zulfo ke saaye main raat sanwar jaaye

Subah hote hi teri baahon main bikhar jaaye

Apni aankhon main basa rakhi hai surat teri

Teri chahat main ye umar saari guzar jaaye..

****

teri nashili mast aankho par shayari
  • Save
Teri nashili mast aankho par Shayari

 

तेरी ज़ुल्फ़ों के साये में रात सँवर जाए

सुबह होते ही तेरी बाँहों में बिखर जाए

अपनी आँखों में बसा रखी है सूरत तेरी

तेरी चाहत में ये उम्र सारी गुज़र जाए..

***

Tere bin bole hi mujhe mere

Pyar ka javab mil gaya

Teri nazare jhuki or

Hamare pyar ka phool khil gaya..

****

तेरे बिन बोले ही मुझे मेरे

प्यार का जवाब मिल गया

तेरी नज़रे झुकी और

हमारे प्यार का फूल खिल गया..

***

teri nashili mast aankho wali shayari

 

Har baar teri muskurati aankho ko dekhta hoon

Chala aata hoon tere paas khyaalo main udte hue..

****

teri nashili mast aankho par shayari
  • Save

 

हर बार तेरी मुस्कुराती आँखों को देखता हूँ,

चला आता हूँ तेरे पास ख़यालों में उड़ते हुए..

****

 

 

Main Tujhse Waqif Nahi Hoon Magar Itna Batata Hoon,

Wo Aankhen Tujhse Zyada Gehre Hai Jinka Ka Main Aashiq Hoon.

***

मैं तुझसे वाकिफ नहीं हूँ मगर इतना बताता हूँ,

वो आँखें तुझसे ज़्यादा गहरी हैं जिनका मैं आशिक हूँ..

****

teri nashili mast aankho par shayari

 

Uthti nahi nazare uski

Sharm se jab lal hoti hai

Mera dil zor se dhadkata hai

Jab wo mere saath hoti hai..

****

उठती नहीं नजरें उसकी

शर्म से जब लाल होती है

मेरा दिल जोर से धड़कता है

जब वो मेरे साथ होती है..

****

See Also:-

Previous articlelove poem for girlfriend 2022: shayari for best friend girl in hindi
Next articlered lips shayari in hindi: होठों पर शायरी 2022, गुलाबी होठों पर शायरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here